Ac Motor और Dc Motor के बीच क्या अंतर है?

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे Ac और Dc Motor किसे कहते है और Difference Between Ac and Dc Motor in Hindi की Ac और Dc Motor में क्या अंतर है?

Ac Motor और Dc Motor के बीच क्या अंतर है?

एसी मोटर और डीसी मोटर मोटर में प्रयुक्त पावर के स्रोत या प्रकृति जैसे विभिन्न कारकों में काफी अंतर हैं। इलेक्ट्रिक मोटर्स वे मशीनें हैं जो विद्युत ऊर्जा को या तो संग्रहीत शक्ति या प्रत्यक्ष विद्युत कनेक्शन से यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करती हैं।

यह घूर्णी बल के उत्पादन के माध्यम से संभव है। इलेक्ट्रिक मोटर दो प्रकार की होती हैं- एक एसी मोटर (अल्टरनेटिंग करंट द्वारा संचालित) और दूसरी डीसी मोटर (डायरेक्ट करंट द्वारा संचालित) होती है। एसी और डीसी मोटर के बीच अंतर के बारे में स्पष्ट अवधारणा बहुत महत्वपूर्ण है। एसी और डीसी मोटर के अंतर को जानकर, एक उपयुक्त मोटर का चयन करना आसान होगा।

इसके आलावा भी Ac और Dc Motor में कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम Difference टेबल के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम Ac और Dc Motor किसे कहते है इसको और अच्छे से समझ लेते है।

What is Ac in Hindi-एसी मोटर क्या होता है?

एक एसी मोटर में, एक प्रत्यावर्ती धारा कॉइल से होकर गुजरती है। जब एक प्रत्यावर्ती धारा को विद्युत चुम्बकों से गुजारा जाता है तो एक चुंबकीय क्षेत्र उत्पन्न होता है। स्थिर भागों में विद्युत चुम्बक होते हैं। उत्पन्न होने वाला चुंबकीय क्षेत्र लगातार बदलता रहता है। इलेक्ट्रोमैग्नेट्स और चुंबकीय क्षेत्र के बीच की बातचीत मोटर को घुमाती है।

यह मोटर विद्युत चुम्बकीय प्रेरण की घटना का उपयोग करके प्रत्यावर्ती धारा को यांत्रिक शक्ति में परिवर्तित करती है। यह मोटर प्रत्यावर्ती धारा से चलती है। इसके दो मुख्य भाग स्टेटर और रोटर हैं।

स्टेटर मोटर का स्थिर भाग होता है, जबकि रोटर मोटर का घूमने वाला भाग होता है। एसी मोटर्स दो कैटेगरी की होती हैं एक सिंगल फेज और दूसरी थ्री फेज।

विद्युत से यांत्रिक में बल्क पावर रूपांतरण के लिए उद्योग में तीन-चरण एसी मोटर उपयोगी हैं। छोटे बिजली रूपांतरण के लिए, एकल-चरण एसी मोटर उपयुक्त हैं। सिंगल-फेज एसी मोटर आकार में छोटी होती है, और यह घर, कार्यालय, कारखानों आदि में विभिन्न प्रकार की सेवाएं प्रदान करती है।

अधिकांश घरेलू उपकरणों जैसे रेफ्रिजरेटर, पंखे, वाशिंग मशीन, हेअर ड्रायर, मिक्सर आदि के लिए सिंगल फेज एसी मोटर का उपयोग किया जाता।

What is Dc Motor in Hindi-DC मोटर क्या होता है?

दिष्ट धारा यानि DC मोटर एक प्रकार की विद्युत मशीन है जो विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करती है। डीसी मोटर्स डायरेक्ट करंट के माध्यम से विद्युत शक्ति का उपभोग कर रहे हैं, और यह इस ऊर्जा को यांत्रिक रोटेशन में परिवर्तित करता है।

ये मोटरें उत्पन्न होने वाली विद्युत धाराओं से उत्पन्न होने वाले चुंबकीय का उपयोग करती हैं। इसे आउटपुट शाफ्ट के भीतर तय किए गए रोटर की गति के लिए शक्तियाँ मिल रही हैं।

यह शब्द ‘डीसी मोटर’ किसी भी रोटरी विद्युत मशीन को संदर्भित करने के लिए प्रयोग किया जाता है जो प्रत्यक्ष करंट विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करता है।

डीसी मोटर्स खिलौनों और उपकरणों में छोटे मोटरों से लेकर बड़े तंत्रों तक बिजली वाहनों में आकार और शक्ति में भिन्न होते हैं। डीसी मोटर्स में स्टेटर और आर्मेचर के रूप में दो प्रमुख घटक होते हैं।

स्टेटर मोटर का स्थिर भाग होता है, जबकि आर्मेचर घूमता है। मोटर में, स्टेटर एक घूर्णन चुंबकीय क्षेत्र प्रदान करता है जो आर्मेचर को घुमाने के लिए प्रेरित करता है।

Difference Between Ac and Dc Motor in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Ac और Dc Motor किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Ac और Dc Motor के बीच क्या अंतर है इसके बारे में अच्छे से पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Ac और Dc Motor क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई कन्फ़्युशन है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

Parameter AC Motor DC Motor
Definition एसी मोटर एक विद्युत मोटर है जो एक प्रत्यावर्ती धारा द्वारा संचालित होती है। डीसी मोटर रोटेटरी इलेक्ट्रिक मोटर है जो डीसी ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में परिवर्तित करती है।
Types यह दो प्रकार का होता है जो सिंक्रोनस एसी मोटर्स और इंडक्शन मोटर्स हैं। डीसी मोटर दो प्रकार की होती है जो ब्रश के साथ डीसी मोटर और ब्रश के बिना डीसी मोटर हैं।
Current Input इसमें एसी करंट का इस्तेमाल होता है। इसमें डीसी करंट का इस्तेमाल होता है।
Input Phases एसी मोटर्स सिंगल-फेज और थ्री-फेज दोनों आपूर्ति पर चल सकती हैं। डीसी मोटर्स केवल सिंगल फेज सप्लाई पर चल सकती हैं।
Motor Initiation तीन फेज वाली एसी मोटर सेल्फ स्टार्टिंग होती है और सिंगल फेज एसी मोटर के लिए स्टार्टिंग मैकेनिज्म की जरूरत होती है। डीसी मोटर्स हमेशा सेल्फ स्टार्टिंग प्रकृति की होती हैं।
Armature

Position

एसी मोटर में आर्मेचर स्थिर रहता है जबकि चुंबकीय क्षेत्र घूमता है। डीसी मोटर्स में आर्मेचर घूमता है लेकिन चुंबकीय क्षेत्र स्थिर रहता है।
Input Terminals इस मोटर में तीन इनपुट टर्मिनल हैं। इस मोटर में दो इनपुट टर्मिनल हैं।
Load Change एसी मोटर लोड में बदलाव के प्रति कम प्रतिक्रियाशील होते हैं। डीसी मोटर्स लोड में बदलाव के लिए तेजी से उत्तरदायी हैं।
Applications एसी मोटर्स उच्च गति और परिवर्तनशील torque की आवश्यकता पर लागू होते हैं। डीसी मोटर्स variable गति और उच्च torque की आवश्यकता पर लागू होते हैं।
Uses मुख्य रूप से बड़े उद्योगों में उपयोग किया जाता है। मुख्य रूप से छोटे घरेलू उपकरणों में उपयोग किया जाता है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना की Ac और Dc Motor किसे कहते है और Difference Between Ac and Dc Motor in Hindi की Ac और Dc Motor में क्या अंतर है।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read