Alternator और Generator के बीच क्या अंतर है?

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे Alternator और Generator किसे कहते है और Difference Between Alternator and Generator in Hindi की Alternator और Generator में क्या अंतर है?

Alternator और Generator के बीच क्या अंतर हैं?

अल्टरनेटर और जनरेटर के बीच बड़ा अंतर यह है कि अल्टरनेटर में आर्मेचर स्थिर होता है और फील्ड सिस्टम घूमता है जबकि जनरेटर में आर्मेचर घूमता है और फील्ड स्थिर होता है।

अल्टरनेटर का आर्मेचर स्टेटर नामक स्थिर तत्व पर और घूमने वाले तत्व पर फील्ड वाइंडिंग पर लगाया जाता है। जबकि जेनरेटर का कनेक्शन इसके ठीक उल्टा होता है। उनके बीच अन्य अंतर तुलना चार्ट में नीचे दिखाए गए हैं।

अल्टरनेटर और जनरेटर दोनों विद्युत चुम्बकीय प्रेरण के फैराडे कानून के सिद्धांत पर काम करते हैं। जनरेटर प्रत्यावर्ती और प्रत्यक्ष धारा दोनों को प्रेरित करता है और अल्टरनेटर केवल प्रत्यावर्ती धारा उत्पन्न करता है।

जनरेटर के रोटर को स्थिर चुंबकीय क्षेत्र के अंदर रखा जाता है। स्थिर चुंबकीय क्षेत्र चुंबकीय ध्रुवों द्वारा निर्मित होता है। रोटर चुंबकीय क्षेत्र के अंदर चलता है, बल की चुंबकीय रेखा को काटता है जो तार में करंट को प्रेरित करता है।

रोटर के हर आधे घुमाव से करंट की दिशा बदल जाती है जो प्रत्यावर्ती धारा (alternating current) का कारण बनती है। alternating current प्राप्त करने के लिए, सर्किट के सिरे सीधे लोड से जुड़े होते हैं। लेकिन direct current उत्पन्न करने के लिए तार के सिरों को कम्यूटेटर से जोड़ा जाता है। कम्यूटेटर alternating current को direct current में परिवर्तित करता है।

इसके आलावा भी Alternator और Generator में कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम Difference टेबल के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम Alternator और Generator किसे कहते है इसको और अच्छे से समझ लेते है।

What is alternator in Hindi-अल्टरनेटर क्या होता है?

एक अल्टरनेटर एक मशीन है जो यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करके प्रत्यावर्ती धारा(Alternating Current) उत्पन्न करती है। इसलिए, इसे एसी जनरेटर या सिंक्रोनस जनरेटर कहा जाता है। अल्टरनेटर में, बिजली तब उत्पन्न होती है जब एक चुंबकीय क्षेत्र तार की वाइंडिंग के अंदर घूमता है।

एप्लीकेशन और डिजाइन के आधार पर कई तरह के अल्टरनेटर होते हैं। इनमें से कुछ मरीन टाइप अल्टरनेटर, ऑटोमोटिव-टाइप अल्टरनेटर, डीजल-इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव टाइप के अल्टरनेटर, और ब्रशलेस टाइप अल्टरनेटर इत्यादि हैं। अल्टरनेटर केवल आवश्यक ऊर्जा का उपयोग करके ऊर्जा का संरक्षण कर रहे हैं।

What is generator in Hindi-जनरेटर क्या होता है?

विद्युत जनरेटर वे मशीनें हैं जो पावर ग्रिड से बिजली की आपूर्ति नहीं होने के दौरान बिजली प्रदान करती हैं। जनरेटर में तार की आर्मेचर या वाइंडिंग निश्चित चुंबकीय क्षेत्र के अंदर घूमती है और इसलिए बिजली पैदा करती है।

इस प्रकार, औद्योगिक जनरेटर अक्सर घर या कार्यालय में बिजली के उपकरणों के लिए बिजली बैकअप की आपूर्ति के लिए मुख्य रूप से उपयोगी होते हैं। साथ ही यह बिजली आपूर्ति ग्रिड से आपूर्ति का सारा काम करेगी।

यह बिजली स्रोत उस परिदृश्य में हमेशा उपयोगी होता है जहां बिजली ग्रिड की आपूर्ति संभव नहीं है जैसे कि खनन और खेती के संचालन में।

यह नए विकास और निर्माण स्थानों के दौरान भी लागू होता है। कुछ विद्युत जनरेटर छोटे होने के साथ-साथ पोर्टेबल भी होते हैं। लेकिन बड़े जनरेटर भी हैं, जिन्हें उचित और स्थायी प्रतिष्ठानों की जरूरत है।

औद्योगिक जनरेटर बहुत शक्तिशाली हैं और इसलिए विनिर्माण सुविधाओं आदि को पूरी शक्ति बनाए रखने में सक्षम हैं। जनरेटर के कुछ प्रकार हैं जैसे डीजल जनरेटर, प्राकृतिक गैस जनरेटर, प्रोपेन जनरेटर और द्वि-ईंधन जनरेटर।

Difference Between Alternator and Generator in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Alternator और Generator किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Alternator और Generator के बीच क्या अंतर है इसके बारे में अच्छे से पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Alternator और Generator क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई कन्फ़्युशन है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

Parameter Alternator Generator
Definition यह वह उपकरण है जो यांत्रिक ऊर्जा को एसी विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करता है। यह एक यांत्रिक उपकरण है जो यांत्रिक ऊर्जा को एसी या डीसी विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करता है।
Output Current यह हमेशा एक प्रत्यावर्ती धारा को प्रेरित करता है। यह या तो प्रत्यावर्ती या प्रत्यक्ष धारा उत्पन्न कर सकता है।
Energy Efficiency ये बहुत ही कुशल होते हैं। ये कम कुशल हैं।
Output इनका उत्पादन अधिक होता है। इनका उत्पादन कम होता है।
Energy Conservation यह अधिक ऊर्जा बचाता है। यह कम ऊर्जा बचाता है।
Polarization ध्रुवीकरण की आवश्यकता नहीं है। यह आवश्यक है।
Magnetic Field इसका चुंबकीय क्षेत्र स्टेटर के अंदर घूमता है। इसका चुंबकीय क्षेत्र स्थिर होता है जहां आर्मेचर घुमावदार घूमता है।
Armature position इसकी आर्मेचर स्थिर है। इसका आर्मेचर घूमती है।
Rotation Per Minute Range इनमें RPM की एक विस्तृत श्रृंखला होती है। इनमें आरपीएम की कम रेंज होती है।
Voltage Generation अल्टरनेटर जरूरत पड़ने पर ही वोल्टेज पैदा करते हैं। जनरेटर हर समय वोल्टेज का उत्पादन करते हैं।
Charging of a Dead Battery अल्टरनेटर एक डेड बैटरी चार्ज नहीं कर सकते। जेनरेटर डेड बैटरी को चार्ज कर सकते हैं।
Uses अल्टरनेटर मुख्य रूप से ऑटोमोबाइल उद्योग में बैटरी के लिए चार्जिंग सिस्टम के रूप में उपयोग में हैं। बड़े पैमाने पर बिजली का उत्पादन करने के लिए जनरेटर का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना की Alternator और Generator किसे कहते है और Difference Between Alternator and Generator in Hindi की Alternator और Generator में क्या अंतर है।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read