Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi में जानेंगे की Antivirus और Internet Security के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi

Antivirus और Internet Security एक इस प्रकार के सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होते है जिनका इस्तेमाल हमारे कंप्यूटर को वायरस और नेटवर्क में malicious programs को पहुंचने से ब्लॉक करने के लिए किया जाता है है। अगर Antivirus और Internet Security में अंतर की बात की जाये तो दोनों ने कुछ समानताएं और असमानताएं है।

Antivirus और Internet Security का एक प्रमुख अंतर यह है कि एंटीवायरस कंप्यूटर को वायरस से बचाता है जबकि, Internet Security हमारे कंप्यूटर या नेटवर्क को स्पाइवेयर, वायरस, फ़िशिंग, स्पैम और वायरस से संक्रमित ईमेल अटैचमेंट से सुरक्षा प्रदान करता है।

Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi

Antivirus और Internet Security में क्या अंतर होता है यह जानने से पहले हम Antivirus और Internet Security को अच्छे से समझने की कोशिश करते है और उसके बाद Antivirus और Internet Security में क्या अंतर होता है इसके बारे में डिटेल्स में जानेंगे।

What is Antivirus in Hindi -एंटीवायरस क्या होता है?

एंटीवायरस एक एप्लिकेशन या सॉफ़्टवेयर है जो हमारे कंप्यूटर को वायरस, Worm और ट्रोजन हॉर्स से बचाता है और यह इंटरनेट के माध्यम से हमारे कंप्यूटर में आने वाले malicious software से भी बचाता है साथ थी वायरस संक्रमित Pen Drive या CD ड्राइव के इस्तेमाल से होने वाले कप्यूटर नुकशान से भी बचाता हैं।

एंटीवायरस को Internet Security का ही एक हिस्सा माना जा सकता है और एक एंटीवायरस सिर्फ तीन काम होते हैं

1. Detection- कंप्यूटर में आने वाले वायरस य किसी अन्य malicious को डिटेक्ट करना।
2. Identification– एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर फ़ाइलों के व्यवहार की निगरानी करता है और जांचता है कि यह दुर्भावनापूर्ण प्रोग्राम है या नहीं।
3.Removal- कंप्यूटर में वायरस और Malicious Program को Remove करना।

वायरस और Malicious सॉफ्टवेअर जैसे प्रोग्राम बहुत ही हानिकारक होते हैं? क्योंकि ये वायरस और मैलवेयर आसानी से हमारे कंप्यूटर के संवेदनशील डेटा को चुरा सकते हैं या हमारे कंप्यूटर का इस्तेमाल किसी गलत काम के उद्देश्य के लिए कर सकते हैं और एक अच्छा एंटीवायरस हमारे कंप्यूटर को ऐसे खतरों से बचाता है।

आज के समय में एंटीवायरस सॉफ्टवेयर में मौजूद ऑटो-अपडेट फीचर कंप्यूटर को नए वायरस से बचाने में काफी मदद करता है क्योंकि एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर प्रोवाइडर लगातार नए वायरस का पता लगाकर उससे कैसे बचा जाये इसके बारे अपने एंटीवायरस सॉफ्टवेयर को Update करते रहते हैं।

एंटी वायरस हमारे कंप्यूटर की हार्ड डिस्क के साथ बाहरी मीडिया जैसे की पेन ड्राइव को भी स्कैन करके उनको वायरस से संक्रमित होने से प्रोटेक्ट करता हैं। Trend Micro, AVG, Avast, Norton, Kaspersky कुछ ऐसे एंटीवायरस सॉफ्टवेयर हैं जो काफी पॉपुलर है और हमारे सिस्टम को सुरक्षित रखते हैं।

What is Internet Security in Hindi- इंटरनेट सिक्योरिटी किसे कहते हैं?

Internet Security में एंटीवायरस के साथ-साथ और भी बहुत सारे फ़ीचर भी होते है यह हमारे कंप्यूटर और नेटवर्क को वायरस, फ़िशिंग, स्पाईवेयर आदि से सुरक्षा और गोपनीयता प्रदान करता है। यह सभी इंटरनेट खतरों और Cyber Attack से हमारे कम्यूटर को Protect करता हैं।

इंटरनेट सिक्योरिटी में Firewall, Antivirus, email protection और parent control जैसे फ़ीचर शामिल होते है इंटरनेट सिक्योरिटी आपके Personal इनफार्मेशन को गलत हांथो में जाने से बचाता है

जैसे की इंटरनेट पर जब आप अपने डेबिट कार्ड नंबर, क्रेडिट कार्ड नंबर Email_passwords, बैंक खाता की Information को डालते है तो वह उसको लीक होने से बचाता हैं उसे सुरक्षा और गोपनीयता प्रदान करती है।

Internet security  इंटरनेट पर होने वाली Communication को सुरक्षित करने के लिए संदर्भित करती है। इंटरनेट सिक्योरिटी में Specific security protocols शामिल होते हैं जो इस प्रकार है।

Internet Security Protocol (IPSec)

इसमें इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स (IETF) द्वारा डिज़ाइन किए गए प्रोटोकॉल का एक सेट होता है। यह नेटवर्क स्तर पर सुरक्षा प्रदान करता है और IP layer  के लिए Authenticated और Confidential Packets बनाने में मदद करता है।

Secure Socket Layer (SSL)

यह नेटस्केप कम्युनिकेशंस कॉर्पोरेशन द्वारा Developed किया गया एक Security Protocol है। यह transport layer पर सुरक्षा प्रदान करता है। यह निम्नलिखित security issues को संबोधित करता है।

  • Privacy
  • Integrity
  • Authentication

Types of internet security threats

अभी तक हमने Internet Security के बारे में जाना अब जानते है की internet security threats कितने प्रकार के होते है Cyber Attacker किस तरह से हमारे नेटवर्क को नुकशान पंहुचा सकते हैं। हालांकि संभावित खतरों की सूची बहुत ही बड़ी है, यहां कुछ सबसे आम internet security threats के बारे में हम जानेंगे।

Malware: यह एक प्रकार के Malicious Software होते है और यह कई तरह के होते है जिसमे कंप्यूटर वायरस, Worm, ट्रोजन और spyware Software शामिल होते हैं।

Computer worm: कंप्यूटर वर्म एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम है, जो एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर पर खुद को कॉपी करता रहता है। इसे इन प्रतियों को बनाने के लिए किसी भी तरह के मानव एक्शन की आवश्यकता नहीं होती है और यह बहुत तेजी से और बड़ी मात्रा में फैल सकता है।

Spam: स्पैम आपके ईमेल इनबॉक्स में Unwanted Messages को संदर्भित करता है। कुछ मामलों में, स्पैम में केवल ऐसे जंक मेल शामिल हो सकते हैं जो उन वस्तुओं या सेवाओं का विज्ञापन करते हैं जिनमें आपकी रुचि नहीं है।

इन्हें आमतौर पर हानिरहित माना जाता है, लेकिन कुछ में ऐसे लिंक शामिल हो सकते हैं जिन पर क्लिक करते ही आपके कंप्यूटर पर malicious software को  Install हो जाता है।

Phishing: Phishing Attack साइबर अपराधियों द्वारा Users की निजी या संवेदनशील इनफार्मेशन की जानकारी को प्राप्त करने के लिए  किये जाते हैं।

Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi

ऊपर हमने Antivirus और Internet Security के बारे में जाना अब हम जानते है की आखिर Antivirus और Internet Security में क्या अंतर हैं।

S.NO ANTIVIRUS INTERNET SECURITY
1. एंटी वायरस का इस्तेमाल Malicious सॉफ्टवेयर और वायरस को कंप्यूटर से Remove करने के लिए किया जाता है। इंटरनेट सिक्योरिटी में एंटीवायरस फीचर के साथ-साथ कुछ अन्य फीचर भी होते हैं।
2. एंटीवायरस में फ़ायरवॉल शामिल नहीं है। इंटरनेट सुरक्षा में फ़ायरवॉल शामिल है।
3. internet security की तुलना में Antivirus कम खर्चीला है। Internet security एंटीवायरस से काफी महगा होता हैं।
4. Antivirus में आमतौर पर Parent control का Option नहीं होता है। Internet security में parent control का फीचर होता हैं।
5. यह हमारे कंप्यूटर को Viruses, Worms, and Trojan Horses से बचाता हैं। यह नेटवर्क को Viruses, phishing, spyware से सुरक्षा प्रदान करता है।
6. Antivirus  उपयोगकर्ताओं को जोखिम भरी वेबसाइटों के बारे में सतर्क करता है। Internet security में भी आप जोखिम भरी वेबसाइटों को ब्लॉक कर सकते हो।
7. एंटीवायरस का इस्तेमाल कंप्यूटर के लिए वैकल्पिक है। Internet security का इस्तेमाल नेटवर्क सुरक्षा के लिए compulsory हैं।

Antivirus और Internet Security में क्या समानताएं हैं?

एंटीवायरस और इंटरनेट सिक्योरिटी दोनों ही वायरस को चेक करने के लिए डिस्क और यूएसबी ड्राइव को स्कैन करते हैं और अगर कोई Malware या Spyware प्रोग्राम मिलता हो तो वह उसे कंप्यूटर सिस्टम से Remove कर देते हैं। एंटीवायरस और इंटरनेट सिक्योरिटी दोनों ही Users को असुरक्षित साइटों पर जाने से रोकता है और दोनों में ही ऑटो अपडेट की सुविधा होती हैं।

Conclusion

आज की इस पोस्ट में हमने जाना की Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi की Antivirus और Internet Security में क्या अंतर होता है।

साथ ही हमने यह भी जाना की  What is Antivirus in Hindi -एंटीवायरस क्या होता है? What is Internet Security in Hindi- इंटरनेट सिक्योरिटी किसे कहते हैं? और Antivirus और Internet Security में क्या समानताएं हैं?

हमने जाना की Antivirus और Internet Security दोनों ही कंप्यूटर को दुर्भावनापूर्ण कार्यक्रमों से सुरक्षा प्रदान करते हैं। इसके अलावा Internet Security अधिक मजबूत है क्योंकि इसमें एंटीवायरस की सभी सुविधाएँ और साथ ही सिस्टम की सुरक्षा के लिए कुछ अतिरिक्त सुविधाएँ होती हैं। यह असुरक्षित साइटों के बारे में चेतावनी देता है और ऐसी URL को भी ब्लॉक करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here