Difference Between Cloud computing and Grid computing in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Cloud computing and Grid computing in Hindi में जानेंगे की Cloud Computing और Grid Computing के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Cloud computing and Grid computing in HindiDifference Between Cloud computing and Grid computing in Hindi

Cloud Computing और Grid Computing दो अलग-अलग शब्द है लेकिन यह अपनी क्षमताओं और संसाधनों के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को लगभग एक जैसी सर्विस प्रदान करते है।

अगर कोई आर्गेनाइजेशन क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तेमाल करता है तो उसे किसी भी तरह के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर खरीदने और उसको मैनेज करने की आवश्यकता नहीं पड़ती यह सारी चीजे उसको क्लाउड सर्वर प्रोवाइडर की तरफ से दी  जाती हैं।

Cloud Computing और Grid Computing के बीच में अंतर की बात करें तो क्लाउड कंप्यूटिंग में, सर्वर का मालिक सर्विस प्रोवाइडर होता है और क्लाउड कंप्यूटिंग में Iaas, Paa, और SaaS जैसी सेवाओं का उपयोग किया जाता है। Cloud Computing में सारे रिसोर्स को Centralized मैनेज किया जाता है।

वही दूसरी तरफ Grid Computing में सर्वर का मालिक खुद कंपनी होती है और वही उस सर्वर की देखभाल करती है। ग्रिड कंप्यूटिंग में  distributed computingdistributed information और  distributed pervasive का उपयोग करता है। ग्रिड कंप्यूटिंग में Resources को वितरित किया जाता है जहां प्रत्येक साइट का अपना Administrative Control होता है।

इसके आलावा भी क्लाउड कंप्यूटिंग और ग्रिड कंप्यूटिंग में कुछ महत्वपूर्ण अंतर पाए जाते है जिन्हे हम Difference Table  के माध्यम से नीचे जानेंगे लेकिन उससे पहले हम Cloud Computing और Grid Computing और अच्छे से जान लेते है।

What is Cloud computing-क्लाउड कंप्यूटिंग क्या है?

क्लाउड कंप्यूटिंग एक आधुनिक कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी है जो इंटरनेट के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को स्केलेबल और काफी लचीली IT infrastructure और आवश्यक सेवाएं जैसे की servers, storage, databases और  software प्रदान करता है।

यह क्लाइंट-सर्वर आर्किटेक्चर को Follow करता है। क्लाउड कंप्यूटिंग में उपयोगकर्ता को उनके उपयोग के अनुसार ही भुगतान करने की आवश्यकता होती है या इसे मीटरिंग बिलिंग कहा जा सकता है।

वर्चुअलाइजेशन की अवधारणा को क्लाउड में उपयोग किया जाता है मतलब इसपर आप hypervisor (VM) का भी उपयोग कर सकते है जिसके माध्यम से उपयोगकर्ता एक ही सर्वर पर कई ऑपरेटिंग सिस्टम चला सकता है।

क्लाउड कंप्यूटिंग के  बारे में और अच्छे से जानने के लिए नीचे दिए गए आर्टिल्स ज़रूर पढ़े।

क्लाउड कंप्यूटिंग क्या है -What is Cloud Computing in hindi?

Types of cloud computing in Hindi-क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार

What is Grid computing-ग्रिड कंप्यूटिंग क्या है?

Grid computing को “distributed computing” भी कहा जाता है, ग्रिड कंप्यूटिंग एक कंप्यूटर नेटवर्क है जिसमें प्रत्येक कंप्यूटर के रिसोर्स को सिस्टम के हर दूसरे कंप्यूटर के साथ साझा किया जाता है। यह बहुत सारे computing resources जैसे की PC’s, workstations, servers और storage elements को एक साथ जोड़ता है और उन्हें एक्सेस करने के लिए एक मैकेनिज्म प्रदान करता है।

ग्रिड कंप्यूटिंग इंडिविजुअल यूजर के लिए नेटवर्क, सर्वर, एप्लिकेशन जैसे कंप्यूटिंग Resource प्रदान करता है।  यह एक बड़े पैमाने पर काम को छोटे टुकड़ों में विभाजित करता है और उन टुकड़ों को अलग से संसाधित करता है।

ग्रिड कंप्यूटिंग के मुख्य लाभ यह हैं कि यह Resources का  Transparent Access प्रदान करके यूजर प्रोडक्टविटी को बढ़ाता है, और इसमें  काम को और अधिक तेजी से पूरा किया जा सकता है।

Working:

ग्रिड कंप्यूटिंग नेटवर्क में मुख्य रूप से तीन प्रकार की मशीनें होती हैं

Control Node:- –एक कंप्यूटर, आमतौर पर एक सर्वर या सर्वर का एक समूह जो पूरे नेटवर्क का प्रबंधन करता है।

Provider:- वह कंप्यूटर जो network resource pool में रिसोर्स का  योगदान करता है।

User:-वह कंप्यूटर जो नेटवर्क में रिसोर्स का उपयोग करता है।

Difference Between Cloud computing and Grid computing in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Cloud Computing और Grid Computing किसे कहते है? अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Cloud Computing और Grid Computing के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Cloud Computing और Grid Computing में कोई confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

Cloud Computing Grid Computing
क्लाउड कम्प्यूटिंग क्लाइंट-सर्वर कंप्यूटिंग आर्किटेक्चर को फॉलो करता है। ग्रिड कंप्यूटिंग एक Distributed कंप्यूटिंग आर्किटेक्चर को फॉलो करता है।
Scalability is high. Scalability is normal.
क्लाउड कम्प्यूटिंग ग्रिड कंप्यूटिंग की तुलना में अधिक लचीला है। क्लाउड कंप्यूटिंग की तुलना में ग्रिड कम्प्यूटिंग कम लचीला है।
क्लाउड एक Centralized Management System के रूप में कार्य करता है। Grid Computing एक decentralized management system के रूप में कार्य करता है।
क्लाउड कंप्यूटिंग में, क्लाउड सर्वर का स्वामित्व Cloud Service Provider के पास होता है। ग्रिड कंप्यूटिंग में सारे Resources का स्वामित्व और प्रबंधन संगठन द्वारा किया जाता है।
क्लाउड कंप्यूटिंग में Iaas, Paas, और SaaS जैसी सेवाओं का उपयोग किया जाता है। ग्रिड कंप्यूटिंग distributed computing, distributed information, और distributed pervasive जैसी प्रणालियों का उपयोग करता है।
क्लाउड कम्प्यूटिंग Service-oriented है। ग्रिड कंप्यूटिंग Application-oriented है।
Standard web protocols  के माध्यम से इसे एक्सेस किया जाता है। यह ग्रिड मिडलवेयर के माध्यम से एक्सेस किया जाता है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने Difference Between Cloud computing and Grid computing in Hindi की Cloud Computing और Grid Computing के बीच में क्या अंतर होता हैं इसके बारे में जाना और साथ में Cloud Computing और Grid Computing को भी अच्छे से समझा।

Related Differences

Difference Between Azure and AWS in Hindi 

Difference Between Cloud Computing and Virtualization in Hindi 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here