Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi में जानेंगे की Firewall और Antivirus के बीच में क्या अंतर होता हैं?Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi

Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi

फ़ायरवॉल और एंटीवायरस दोनों ही हमारे कंप्यूटर सिस्टम और नेटवर्क को सुरक्षा प्रदान करने वाले तंत्र हैं। यद्यपि फ़ायरवॉल और एंटीवायरस दोनों अलग-अलग प्रकार की टेक्नोलॉजी हैं।

फ़ायरवॉल और एंटीवायरस के बीच मुख्य अंतर की बात करे तो यह है कि फ़ायरवॉल सिस्टम हमारे कंप्यूटर या नेटवर्क में आने वाले ट्रैफ़िक के लिए एक बैरियर के रूप में कार्य करता है। इसके विपरीत एक एंटीवायरस हमारे कंप्यूटर को आंतरिक हमलों जैसे की Malicious फ़ाइलों और खतरनाक वायरस आदि से बचाता है।

फायरवॉल और एंटीवायरस दोनों के काम करने का तरीका भी अलग-अलग हैं, फ़ायरवॉल हमारे कंप्यूटर पर बाहरी नेटवर्क जैसे की इंटरनेट से आने वाले ट्रैफिक के निरीक्षण पर जोर देता है। इसके विपरीत एक एंटीवायरस हमारे कंप्यूटर के malicious program को Detection और Identification करके उन्हें Remove  करता है।

इसके आलावा भी Firewall और Antivirus में महत्वपूर्ण अंतर पाए जाते है जिनको हम नीचे Difference Table के माध्यम से नीचे जानेंगे लेकिन उससे पहले हम Firewall और Antivirus को  अच्छे से समझ लेते है।

What is Firewall in Hindi-फ़ायरवॉल किसे कहते है?

कंप्यूटिंग में, एक फ़ायरवॉल एक नेटवर्क सिक्योरिटी सिस्टम है जो पूर्वनिर्धारित सुरक्षा नियमों के आधार पर आने वाले और बाहर जाने वाले नेटवर्क ट्रैफ़िक की निगरानी और नियंत्रण करता है। एक फ़ायरवॉल आमतौर पर एक विश्वसनीय नेटवर्क और एक अविश्वसनीय नेटवर्क जैसे कि इंटरनेट के बीच एक बैरियर स्थापित करता है।

एक फ़ायरवॉल को बाहरी नेटवर्क से हमारे कंप्यूटर पर आने वाले IP Packets को फ़िल्टर करने के लिए डिज़ाइन किया है। यह Local System के साथ-साथ हमारे नेटवर्क की सिक्योरिटी का भी एक प्रभावी तरीका है।

 Types of firewall-फ़ायरवॉल के प्रकार

मुख्य रूप से तीन प्रकार के फायरवॉल होते हैं  जैसे कि सॉफ्टवेयर फायरवॉल, हार्डवेयर फायरवॉल या सॉफ्टवेयर हार्डवेयर फ़ायरवॉल। प्रत्येक प्रकार के फ़ायरवॉल में अलग-अलग कार्यक्षमता और विशेषताएं होती है लेकिन सभी का एक ही उद्देश्य होता है। हालांकि अपने नेटवर्क को अधिकतम सिक्योरिटी प्रदान करने के लिए दोनों तरह की फ़ायरवॉल का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

हार्डवेयर फ़ायरवॉल एक Physical Device है जो कंप्यूटर नेटवर्क और गेटवे के बीच लगाई जाती है। एक हार्डवेयर फ़ायरवॉल को कभी-कभी एक Appliance Firewall के रूप में भी जाना जाता है। दूसरी ओर, एक सॉफ्टवेयर फ़ायरवॉल एक कंप्यूटर पर Installed एक सरल प्रोग्राम है जो पोर्ट नंबर और अन्य इंस्टॉल किए गए सॉफ़्टवेयर के माध्यम से काम करता है। इस प्रकार के फ़ायरवॉल को होस्ट फ़ायरवॉल भी कहा जाता है।

इसके अलावा, उनकी सुविधाओं और उनके द्वारा प्रदान की जाने वाली सुरक्षा के स्तर के आधार पर कई अन्य प्रकार के फायरवॉल हैं। निम्नलिखित प्रकार की फ़ायरवॉल तकनीकें हैं जिन्हें सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर के रूप में लागू किया जा सकता है:

इसके अलावा प्रदान की जाने वाली सुरक्षा के स्तर के आधार पर कई अन्य प्रकार के फायरवॉल हैं भी जिन्हें सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर के रूप में implemented  किया जा सकता है जो की निम्नलिखित है।

  • Packet-filtering Firewalls
  • Circuit-level Gateways
  • Application-level Gateways (Proxy Firewalls)
  • Stateful Multi-layer Inspection (SMLI) Firewalls
  • Next-generation Firewalls (NGFW)
  • Threat-focused NGFW
  • Network Address Translation (NAT) Firewalls
  • Cloud Firewalls
  • Unified Threat Management (UTM) Firewalls

What is Antivirus in Hindi-Antivirus किसे कहते है?

एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर जिसे एंटी-मैलवेयर के नाम से भी जाना जाता है। एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जिसका उपयोग कंप्यूटर, नेटवर्क और आईटी सिस्टम पर वायरस और अन्य मैलवेयर के हमलों को रोकने, पता लगाने और हटाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर  इंटरनेट से आने वाले Malicious Programs के खिलाफ भी सुरक्षा प्रदान करता है।

यह हमारे कंप्यूटर और नेटवर्क को विभिन्न प्रकार के खतरों और वायरस से बचाता है जैसे की ट्रोजन हॉर्स, वर्म्स, कीलॉगर, ब्राउज़र अपहर्ता, रूटकिट, स्पाईवेयर, बॉटनेट, एडवेयर और रैंसमवेयर।

आजकल अधिकांश एंटीवायरस प्रोग्राम एक Auto-Update Feature के साथ आते हैं और कंप्यूटर को नए वायरस और Threats के लिए नियमित रूप से जांचने में सक्षम बनाते हैं। इसके आलावा एक एंटीवायरस कुछ अतिरिक्त सर्विस भी प्रदान करता है जैसे सिस्टम पर रिसीव होने वाली मेल्स को स्कैन करता है और malicious attachments वाली मेल्स के बारे में हमें नोटिफिकेशन प्रदान करता है।

एक एंटीवायरस निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करके हमारे कंप्यूटर सिस्टम को सिक्योर करता है।

Detection: सबसे पहले यह कंप्यूटर की सारी फाइल्स को स्कैन करके उनमे से वायरस से संक्रमित और मैलवेयर प्रोग्राम्स को डिटेक्ट करता है।

Identification: पता लगाने के बाद, यह तब, वायरस के प्रकार को पहचानता है की यह किस प्रकार के वायरस य मैलवेयर प्रोग्राम्स है।

Removal:अंत में, एंटीवायरस संक्रमित फ़ाइल और मैलवेयर प्रोग्राम को कंप्यूटर से निकालने के लिए कार्रवाई करता है।

Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Firewall और Antivirus किसे कहते है? अगर आपने ऊपर दी गयी सारी बाते ध्यान से पढ़ी है तो आपको Firewall और Antivirus के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Firewall और Antivirusमें कोई confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

S.NO FIREWALL ANTIVIRUS
1. फ़ायरवॉल को हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों में लागू किया जा सकता है। एंटीवायरस को सॉफ्टवेयर में ही लागू किया जाता है।
2. फ़ायरवॉल केवल बाहरी खतरों से हमें सिक्योर करता है। एंटीवायरस हमें बाहरी खतरों और आंतरिक खतरों दोनों से बचाता है।
3. फ़ायरवॉल में काउंटर अटैक संभव हैं जैसे कि IP Spoofing और routing attacks एंटीवायरस में मैलवेयर हटाने के बाद कोई काउंटर अटैक संभव नहीं है।
4. फ़ायरवॉल मॉनिटरिंग और फ़िल्टरिंग पर काम करता है।. एंटीवायरस संक्रमित फ़ाइलों और सॉफ्टवेयर की स्कैनिंग पर काम करता है।
5. फ़ायरवॉल आने वाले डेटा पैकेट से खतरे की जाँच करता है। एंटीवायरस Malicious सॉफ़्टवेयर से खतरे की जाँच करता है।
6. फ़ायरवॉल सिस्टम को सभी तरह के खतरों से बचाता है। एंटीवायरस केवल वायरस से सिस्टम को बचाता है।
7. फ़ायरवॉल की प्रोग्रामिंग एंटीवायरस की तुलना में जटिल है। फ़ायरवॉल की तुलना में एंटीवायरस की प्रोग्रामिंग सरल है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi की Firewall और Antivirus के बीच में क्या अंतर होता हैं इसके बारे में जाना और साथ में Firewall और Antivirus किसे कहते है इसको भी अच्छे से समझा।

फ़ायरवॉल और एंटीवायरस दोनों ही हमारे कंप्यूटर को बाहरी और आंतरिक खतरों से बचाने के लिए एक सिक्योरिटी प्रदान करते है। यद्यपि दोनों के काम करने का तरीका अलग-अलग है लेकिन उद्देश्य एक ही है और फ़ायरवॉल और एंटीवायरस की अपनी-अपनी विशेषताएं है

Related Differences:

Difference Between Antivirus and Internet Security in Hindi

Difference Between Virus And Worms in Hindi

Difference Between Firewall and Proxy Server in Hindi

Difference Between Router and Firewall in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here