Difference Between Modem and Router in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Modem and Router in Hindi में जानेंगे की Modem और Router के बीच में क्या अंतर होता हैं?Difference Between Modem and Router in Hindi

Difference Between Modem and Router in Hindi

Modem और Router दोनों ही नेटवर्किंग डिवाइस हैं। जहां एक मॉडेम इंटरनेट को एक्सेस करने के लिए आपके कंप्यूटर या आपके नेटवर्क को टेलीफोन लाइन ( इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर) से जोड़ता है। वही एक राउटर  दो विभिन्न प्रकार के नेटवर्क को एक साथ जोड़ने के लिए इस्तेमाल होता है।

मॉडेम और राउटर के बीच के अगर मूल अंतर की बात की जाये तो यह है कि आपके कंप्यूटर नेटवर्क को इंटरनेट से जोड़ने के लिए एक मॉडेम आवश्यक है, जबकि नेटवर्क पर डेटा पैकेट के आवागमन के लिए मार्ग को निर्देशित करने के लिए एक राउटर आवश्यक है।

इसके आलावा भी एक Modem और Router में बहुत सारे अंतर होते है जिनको हम नीचे Difference Table के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम Modem और Router क्या होता है इसके बारे में डिटेल्स में जानते हैं।

What is Modem in Hindi-Modem किसे कहते है?

Modem के Computer Networking डिवाइस है जो आपके कंप्यूटर और एक टेलीफोन लाइन के बीच सिग्नल को मॉड्यूलेट और डिमॉड्यूलेट करता है। अगर मॉड्यूलेशन की बात की जाये तो यह वह जगह है जहां आपके कंप्यूटर से एक डिजिटल सिग्नल को टेलीफोन लाइन के एनालॉग सिग्नल में बदल दिया जाता है। दूसरी ओर, डीमॉड्यूलेशन मॉड्यूलेशन की ठीक विपरीत प्रक्रिया है।

एक मॉडेम डिवाइस का काम आपके लोकल कंप्यूटर नेटवर्क को आपके ISP (Internet Service Provider) से Connect करने का होता है बिना मॉडेम डिवाइस के आप इंटरनेट का उपयोग नहीं कर सकते। मॉडेम को आपके कंप्यूटर से कनेक्ट किया जाता है या RJ45 कनेक्टर के माध्यम से एक Router और RJ11 Connector के माध्यम से एक टेलीफोन लाइन से कनेक्ट  किया जाता है।

मोडेम डिवाइस डेटा लिंक लेयर पर काम करता है और यह डेटा का ट्रांसमिशन पैकेट के रूप में करता है। एक मॉडेम को ISP और एक कंप्यूटर या एक राउटर के बीच Implement किया जाता है।

एक मॉडेम का सिर्फ इतना काम होता है की वह Users द्वारा मांगी गई जानकारी को आपके कंप्यूटर या आपके नेटवर्क तक पहुँचाना है। इसका आपके कंप्यूटर या नेटवर्क की सुरक्षा से कोई मतलब नहीं है। यह डेटा पैकेट को forward करने से पहले किसी भी तरह की  Checking नहीं करता है। इसलिए आपके कंप्यूटर पर संभावित खतरों की संभावना अधिक होती है।

What is Router in Hindi-Router किसे कहते है?

Router भी Modem की तरह एक नेटवर्किंग डिवाइस है इसका काम दो Different नेटवर्क को आपस में कनेक्ट करना होता है ताकि एक नेटवर्क दूसरे नेटवर्क के बीच डेटा को शेयर कर सके। एक Router नेटवर्क पर डेटा पैकेट को ट्रांसमिट करने के लिए सबसे अच्छे रूट को चुनता है।

राउटर जितने भी डाटा पैकेट रिसीव करता है सबसे पहले वह उनकी जाँच करता है और फिर अपने  Destination Field  में Physical Address को निर्धारित करने के लिए डेटा पैकेट का विश्लेषण करता है और उस पैकेट को उसके Destination तक पहुंचाता है। कंप्यूटर नेटवर्क से कनेक्ट करने के लिए एक रूटर RJ45 का उपयोग करता है।

एक राउटर फिजिकल लेयर, डेटा लिंक लेयर और नेटवर्क लेयर पर काम करता है और मॉडेम की तरह यहां भी डेटा का प्रसारण पैकेट के रूप में होता है। राउटर स्क्रीन के रूप में, प्रत्येक पैकेट को उसके गंतव्य तक भेजने से पहले, राउटर में कार्यान्वित फ़ायरवॉल संभावित खतरों को निर्धारित करने में मदद करेगा जो आपके कंप्यूटर या आपके नेटवर्क को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए, राउटर आपके कंप्यूटर को सुरक्षा प्रदान करता है और आपके नेटवर्क पर हमला करने से रोकता है।

क राउटर किसी दिए गए डेटा पैकेट के Destination IP Address की जांच करता है, और यह उस पैकेट को ट्रांसफर करने का सबसे अच्छा रास्ता तय करने के लिए हेडर और Forwarding Table का उपयोग करता है। आज के समय मे Cisco3ComHPJuniperD-LinkNortel यह कुछ लोकप्रिय कंपनियां हैं जो राउटर को बनाती है।

एक Router के कुछ Important Point नीचे दिए गए है जिनके बारे में आपको ज़रूर पता होना चाहिए।

  • LAN (लोकल एरिया नेटवर्क) और WAN (वाइड एरिया नेटवर्क) को आपस में कनेक्ट करने के लिए राउटर का उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए अगर आप अपने लोकल नेटवर्क से इंटरनेट का इस्तेमाल करना चाहते हो तो बिना राऊटर के नहीं कर सकते।
  • यह नेटवर्किंग में अन्य राउटर्स के साथ Information को Share करता है।
  • यह नेटवर्क में डेटा को ट्रासंफर करने के लिए राउटिंग प्रोटोकॉल का उपयोग करता है।
  • इसके अलावा, यह स्विच और हब जैसे अन्य नेटवर्किंग डिवाइस की तुलना में अधिक महंगा होता है।

एक राउटर OSI मॉडल की Network Layer पर काम करता है, और यह कंप्यूटर के IP पते पर आधारित होता है। यह दो नेटवर्क के बीच Communication करने के लिए ICMP जैसे प्रोटोकॉल का उपयोग करता है।

Router को एक intelligent device के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यह नेटवर्क पैकेट को Source से Destination तक सेंड करने के लिए नेटवर्क के सबसे अच्छे रास्ते का इस्तेमाल करता हैं।

Features of Router

  • एक राउटर OSI मॉडल की नेटवर्क लेयर पर काम करता है, और यह IP ऐड्रेस और सबनेट की मदद से अपने आस-पास के Router से कम्युनिकेशन करता है।
  • एक राउटर विभिन्न प्रकार के पोर्ट जैसे गीगाबिट, फास्ट-ईथरनेट और STM link port के साथ हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करता है।
  • यह उपयोगकर्ताओं को नेटवर्क में उनकी आवश्यकताओं के अनुसार पोर्ट को कॉन्फ़िगर करने की अनुमति देता है।
  • यह उपयोगकर्ताओं को कई LAN और WAN कनेक्ट करने की अनुमति देता है।
  • इसके अलावा, एक राउटर डेटा को फॉरवर्ड करने के लिए कई रास्ते बनाता है।

Difference Between Modem and Router in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Modem और Router किसे कहते है? अगर आपने ऊपर दी गयी सारी बाते ध्यान से पढ़ी है तो आपको Modem और Router के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा ।

अगर आपको अब भी Modem और Router में कोई confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

BASIS FOR COMPARISON MODEM ROUTER
Meaning यह एक Networking डिवाइस है जो आपके कंप्यूटर और एक टेलीफोन लाइन के बीच सिग्नल को मॉड्यूलेट और डिमॉड्यूलेट करता है। राऊटर भी एक नेटवर्किंग डिवाइस है जो दो अलग-अलग नेटवर्क को आपस में कनेक्ट करता है।
Work एक मॉडेम आपके कंप्यूटर के डिजिटल सिग्नल को टेलीफोन लाइन के एनालॉग सिग्नल में परिवर्तित करता है। राउटर एक डेटा पैकेट की जांच करता है और उसको Destination तक पहुंचने के लिए रास्ता प्रोवाइड करता है।
Purpose मॉडेम इंटरनेट से मांगी गई जानकारी को आपके नेटवर्क में लाता है। Router इनफार्मेशन को Networks को Distributes करता है।
Internet मॉडेम का इस्तेमाल इंटरनेट तक पहुंचने के लिए आवश्यक है क्योंकि यह आपके कंप्यूटर को ISP से जोड़ता है। आप राउटर का उपयोग किए बिना ही इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं।
Layer मोडेम डेटा लिंक लेयर पर काम करता है। राउटर फिजिकल लेयर, डेटा लिंक लेयर, नेटवर्क लेयर पर काम करता है।
Security मोडेम डेटा पैकेट की जांच नहीं करता है; इसलिए, सुरक्षा खतरा हमेशा बना रहता है। राउटर Network में खतरे को निर्धारित करने के लिए आगे भेजने से पहले हर डेटा पैकेट की जांच करते हैं।
Placed एक मॉडेम को टेलीफोन लाइन और एक राउटर के बीच या सीधे कंप्यूटर Connect से कनेक्ट किया जाता है। राउटर को मॉडेम और कंप्यूटर नेटवर्क के बीच रखा जाता है।
Registered Jack मॉडेम RJ45 का उपयोग करते हुए एक राउटर और RJ11 का उपयोग करते टेलीफोन लाइन को  जोड़ता हैं। राउटर RJ45 के माध्यम से कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़ता है।

Conclusion

आज की इस पोस्ट में हमने Difference Between Modem and Router in Hindi की Modem और Router के बीच में क्या अंतर होता हैं? इसके बारे में जाना और साथ ही साथ Modem और Router किसे कहते है इसको भी हमने अच्छे से समझा।

यह स्पष्ट है कि यदि आप अपने कंप्यूटर या अपने लोकल एरिया नेटवर्क को इंटरनेट से जोड़ना चाहते हैं, तो आपके पास एक मॉडेम होना चाहिए क्योंकि यह इंटरनेट से जुड़ने का एकमात्र साधन है। आजकल ISP एक अपने कस्टमर्स को ऐसी डिवाइस पप्रोवाइड करते है जिसमे एक ही डिवाइस में राउटर और मॉडेम दोनों होते है।

Related Differences:

Difference Between Router and Switch in Hindi

Difference Between Router and Firewall in Hindi

Difference Between Bridge and Router in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here