Difference Between Repeater and Amplifier in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Repeater and Amplifier in Hindi में जानेंगे की Repeater और Amplifier के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Repeater and Amplifier in HindiDifference Between Repeater and Amplifier in Hindi

रिपीटर और एम्पलीफायर दोनों ही एक प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस हैं जिनका उपयोग Signals की पॉवर को बढ़ाने के लिए किया जाता है। अगर Repeater और Amplifier के बीच मुख्य अंतर की बात करे तो यह है कि एक Repeater का उपयोग सिग्नल को Regenerator करने के लिए किया जाता है।

यह Weak Signals को Regenerate करके उसको ट्रांसमिट करता है इसके साथ यह Signals के Noise को भी कम करता है। दूसरी ओर Amplifier सिर्फ सिग्नल तरंग के आयाम को बढ़ाता है और सिग्नल के साथ-साथ बढ़ रहे Noise की परवाह नहीं करता है।

इसके आलावा भी Repeater और Amplifier में कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम Deference Table के माध्यम से नीचे जानेगे लेकिन उससे पहले Repeater और Amplifier क्या होता है इसको जानना बहुत ज़रूरी है।

What is Repeater in Hindi-रिपीटर किसे कहते है?

Repeater एक Electronic डिवाइस है जो OSI Model की Physical Layer पर काम करती है। डिजिटल कम्यूनिकाशन के द्वारा नेटवर्क में एक डिवाइस से दूसरी डिवाइस में डेटा को Signals के माध्यम से ट्रांसमिट किया जाता है। सिंग्नल्स एक सीमित एरिया में ही डेटा को ट्रांसफर कर सकते है क्योकि उसके आगे Signals काफी कमजोर हो जाते है इसलिए एक बड़े नेटवर्क में कम्युनिकेशन में काफी दिक्कते होती थी।

नेटवर्क में इस समस्या को हल करने के लिए Repeater का इस्तेमाल किया जाता है जो Weak Signals को Regenerate करके उन्हें आगे भेजता है। इलेक्ट्रोमैग्नेटिक मीडिया में, रिपीटर्स फ्री-स्पेस इलेक्ट्रोमैग्नेटिक-फील्ड डाइवरेज या केबल लॉस के कारण होने वाले Attenuation को दूर करते हैं।

What is Amplifier in Hindi-एम्पलीफायर किसे कहते है?

Amplifier एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो सिग्नल के वोल्टेज, करंट या पावर को बढ़ाता है। आमतौर पर Amplifier का इस्तेमाल वायरलेस कम्युनिकेशन और ब्राडकास्टिंग के लिए किया जाता है। इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल में जो भी इनफार्मेशन होती है जिसका उपयोग तब नहीं किया जा सकता है जब तक उसके पास उचित पावर नहीं है। सिग्नल की पावर बढ़ाने की प्रक्रिया को Amplification कहा जाता है।

यह इलेक्ट्रॉनिक्स में सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले सर्किटों में से एक है और इसका उपयोग विभिन्न कार्यों के लिए किया जा सकता है चिकित्सा उपकरणों, वैज्ञानिक उपकरणों, ऑटोमेशन, सैन्य उपकरणों, संचार उपकरणों और यहां तक कि घरेलू उपकरणों में भी एम्पलीफायरों का उपयोग किया जाता है।

Amplifiers कई प्रकार के होते हैं। लेकिन उन्हें Signals के Amplification और वह किस प्रकार से काम करते है इसके आधार पर वर्गीकृत किया जा सकता है मुख्य रूप से Amplifier तीन तरह से होते है।

  • Voltage Amplifier
  • Current Amplifier
  • Power Amplifier

Repeater और Amplifier में क्या अंतर हैं?

ऊपर हमने Repeater और Amplifier की परिभाषा को समझा और उससे हमें Repeater और Amplifier के बीच में क्या अंतर है इसके बारे काफी कुछ जानने को मिला लेकिन इसके आलावा भी Repeater और Amplifier प्रोटोकॉल में कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम Difference Table की मदद से नीचे जानेंगे।

S.NO REPEATER AMPLIFIER
1. एक रिपीटर वीक सिग्नल्स को Regenerate करता है। एम्पलीफायर सिग्नल के आयाम को बढ़ाता है।
2. Repeater हाई इनपुट पावर लेता है और low output power प्रदान करता है। Amplifier low output power लेता है और हाई इनपुट पावर प्रदान करता है।
3. रिपीटर का उपयोग आमतौर पर Static वातावरण में किया जाता है। एम्पलीफायर का उपयोग आम तौर पर मोबाइल और रिमोट एरिया नेटवर्क में किया जाता है।
4. Repeater को Signals को Regenerate करता है ताकि Noise को कम या समाप्त किया जा सके। एम्पलीफायर शोर के साथ संकेत के आयाम को बढ़ाता है।
5. रिपीटर OSI model की फिजिकल लेयर पर काम करता है। आम तौर पर एम्पलीफायर का उपयोग वायरलेस संचार में किया जाता है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट मेंहमने जाना Difference Between Repeater and Amplifier in Hindi की Repeater और Amplifier के बीच में क्या अंतर होता हैं? इसके साथ ही हमने Repeater और Amplifier को भी अच्छे से समझा।

Related Difference 

Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi

Difference Between Bridge and Gateway in Hindi

Difference Between Unicast and Multicast in Hindi

Difference Between FTP and TFTP in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here