Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi में जानेंगे की Synchronous और Asynchronous Transmission के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi

Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi

दोस्तों मैंने अपने पिछले पोस्ट में बताया था की Serial और Parallel Transmission क्या होता है और जैसा की हमने बताया था सीरियल ट्रांसमिशन में भी दो Sub Classes होती है एक synchronous और दूसरी asynchronous

Asynchronous Transmission में प्रत्येक बाइट में एक अतिरिक्त बिट जोड़ा जाता है ताकि रिसीवर नए डेटा के आगमन के बारे में सतर्क हो।

आज की इस पोस्ट में हम Synchronous और Asynchronous Transmission के बीच का अंतर जानेगे लेकिन उससे पहले हम Synchronous और Asynchronous Transmission क्या होता है इसको जानते हैं।

What is Synchronous Transmission in Hindi

Synchronous Transmission में डेटा को ब्लॉक या फ्रेम के रूप में भेजा जाता है और यह Full Duplex ट्रांसमिशन होता है तथा Sender और Receiver के बीच Synchronization अनिवार्य है।

सिंक्रोनस ट्रांसमिशन में डेटा के बीच कोई गैप मौजूद नहीं है। यह बड़ी मात्रा में डेटा ट्रांसफर करने के लिए asynchronous transmission से अधिक कुशल और विश्वसनीय है।

यह एक साथ Connected डिवाइस के बीच Real time Communication प्रदान करता है , चैट रूम, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, टेलीफोन पर बातचीत, साथ ही साथ face to face interactions  यह सिंक्रोनाइज़ेशन ट्रांसमिशन के कुछ उदाहरण हैं।

वॉइस-बैंड और ब्रॉड-बैंड चैनल आमतौर पर सिंक्रोनस ट्रांसमिशन मोड में उपयोग किए जाते हैं क्योंकि यह 1200 mbps तक की तेज Speed प्रदान करता है और High Data Transfer के उद्देश्य को पूरा करता है।

What is Asynchronous Transmission in Hindi

Asynchronous Transmission में byte या character के रूप में डेटा भेजा जाता है। यह ट्रांसमिशन Half Duplex टाइप ट्रांसमिशन है। इस ट्रांसमिशन में Bits और  Stop bits को डेटा के साथ जोड़ा जाता है। इसमें सिंक्रोनाइज़ेशन की आवश्यकता नहीं होती है।

यह character-based synchronization का इस्तेमाल करता हैं ताकि receiving terminal एक character पर डेटा की प्राप्ति के साथ खुद को सिंक्रनाइज़ कर सके। यह सरल, तेज़, किफायती है और इसके लिए 2-way communication  की आवश्यकता नहीं है। ईमेल, फ़ोरम, टेलीविज़न और रेडियो यह कुछ Asynchronous Transmission के उदाहरण हैं।

Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi

अभी तक हमने जाना की Asynchronous और Asynchronous Transmission क्या होता हैं अब हम जानते है की Asynchronous और Asynchronous Transmission के बीच क्या अंतर होता हैं।

Asynchronous और Asynchronous Transmission के बीच कुछ मुख्य अंतर को देखते हैं जो इस प्रकार हैं

S.NO SYNCHRONOUS TRANSMISSION ASYNCHRONOUS TRANSMISSION
1. Synchronous transmission में डेटा को ब्लॉक या फ्रेम के रूप में भेजा जाता है। In asynchronous transmission में डेटा को byte or character के रूप में भेजा जाता है।
2. Synchronous transmission काफी फ़ास्ट होता हैं। Asynchronous transmission काफी slow होता हैं।
3. Synchronous transmission काफी  costly होता हैं। Asynchronous transmission बहुत हीकिफायती l है।
4. Synchronous transmission में ट्रांसमिशन का समय अंतराल स्थिर है।  Asynchronous transmission में ट्रांसमिशन का समय अंतराल रैंडम होता हैं।
5. Synchronous transmission में डेटा के बीच कोई Gap मौजूद नहीं है।  Asynchronous transmission में डाटा के बीच gap होता हैं।
6. इसके कुछ मुख्य उदाहरण Chat Rooms, Video Conferencing, Telephonic Conversations हैं।  इसके कुछ उदाहरण Letters, emails, forums हैं।
7. इसको Hardware और software दोनों पर Implement किया जाता है।  इसको केवल Hardware पर Implement किया जाता हैं।

Conclusion

आज की इस पोस्ट से हमने जाना Difference Between Synchronous and Asynchronous Transmission in Hindi की Synchronous और Asynchronous Transmission के बीच में क्या अंतर होता हैं?

साथ ही हमने Synchronous और Asynchronous Transmission क्या  होता है इसके बारे में भी डिटेल्स में जाना और पाया की Synchronous और Asynchronous Transmission दोनों के ही अपने कुछ फायदे और नुकसान हैं।

Asynchronous Transmission का इस्तेमाल कम मात्रा के Data को ट्रांसमिट करने के लिए किया जाता हैं और यह काफी सरल और किफायती हैं

Synchronous Transmission का इस्तेमाल बड़ी मात्रा में डाटा को ट्रांसमिट करने के लिए किया जाता हैं और यह Asynchronous Transmission से मॅहगा होता है।

अपनी अपनी जगह पर दोनों सही है और डेटा ट्रांसमिशन के लिए Synchronous और  Asynchronous Transmission दोनों आवश्यक हैं।

Related Differences:

1 COMMENT

  1. Synchronous and Asynchronous Transmission के बारे मे बहुत ही सरल तरीके से समझाया ❤️

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here