Transducer और Sensor के बीच क्या अंतर है?

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे Transducer और Sensor किसे कहते है और Difference Between Transducer and Sensor in Hindi की Transducer और Sensor में क्या अंतर है?

ट्रांसड्यूसर और सेंसर के बीच क्या अंतर हैं?

विभिन्न प्रकार के सेंसर उपलब्ध हैं और उनका उपयोग रिमोट सेंसिंग के लिए किया जा सकता है जैसे कि मोशन सेंसर जैसे सबसे सामान्य उदाहरण जो स्वचालित दरवाजे, सुरक्षा रोशनी जैसे कई प्रणालियों में उपयोग किया जाता है।

Transducer और Sensor में कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम Difference टेबल के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम Transducer और Sensor किसे कहते है इसको और अच्छे से समझ लेते है।

What is Transducer in Hindi-ट्रांसड्यूसर क्या होता है?

एक उपकरण जो गैर-विद्युत सिग्नल की भौतिक विशेषताओं को विद्युत सिग्नल में बदल देता है, जिसे आसानी से मापा जा सकता है उसे ट्रांसड्यूसर कहा जाता है।

अगर सरल शब्दों में कहे तो ट्रांसड्यूसर वह उपकरण है जो ऊर्जा को एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित करता है। यह एक गैर-विद्युत भौतिक को विद्युत संकेत में भी बदल देता है। यह मापी गई विशिष्ट इनपुट के लिए आउटपुट प्रतिक्रिया प्रदान करता है जो भौतिक मात्रा हो सकती है।

What is Sensor in Hindi-सेंसर क्या होता है?

भौतिक गुणवत्ता को मापने और उपयोगकर्ता के लिए पढ़ने में आसान प्रारूप में आउटपुट देने के लिए उपयोगी उपकरण एक सेंसर है।

सेंसर वह उपकरण है जो पर्यावरण में परिवर्तन का पता लगाता है। यह तापमान सेंसर, दबाव सेंसर या आर्द्रता सेंसर हो सकता है। जैसा कि हम जानते हैं कि सेंसर आंखों और कानों की तरह ही सेंस करते हैं। सेंसर द्वारा मापी गई जानकारी (डेटा को सेंस किया जा रहा है) को उस पर काम करने के लिए प्रोसेसर या कंट्रोलर को भेजा जाएगा।

Difference Between Transducer and Sensor in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Transducer और Sensor किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Transducer और Sensor के बीच क्या अंतर है इसके बारे में अच्छे से पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Transducer और Sensor क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई कन्फ़्युशन है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

Parameters Sensor               Transducer
Definition यह आसपास में होने वाले किसी भी शारीरिक परिवर्तन को महसूस करने के लिए बनाया गया है। संक्रमण को सटीक मात्रा में बदलने के लिए सेंसर जिम्मेदार हैं। एक ट्रांसड्यूसर ऊर्जा को दिए गए रूप से दूसरे रूप में बदलने का कार्य करता है।
Component सेंसर के पास स्वयं के अलावा कोई अन्य घटक नहीं है। ट्रांसड्यूसर में 2 भाग सिग्नल कंडीशनिंग और सेंसर होते हैं
Functionality सेंसर परिवर्तनों का पता लगाता है और संबंधित विद्युत संकेतों को उत्पन्न करता है। वे ऊर्जा को एक अलग रूप में परिवर्तित करने के लिए जिम्मेदार हैं।
Applications एक चुंबकीय सेंसर, एक्सेलेरोमीटर सेंसर, निकटता सेंसर, लाइट सेंसर, आदि कुछ अनुप्रयोग हैं थर्मिस्टर, थर्मोकपल, पोटेंशियोमीटर, आदि कुछ अनुप्रयोग हैं
Dependency एक सेंसर ट्रांसड्यूसर नहीं हो सकता है। एक ट्रांसड्यूसर में हमेशा एक सेंसर होता है।
Complexity of performance सेंसर का प्रदर्शन कम जटिल है ट्रांसड्यूसर का प्रदर्शन अधिक जटिल है क्योंकि इसे भौतिक मात्रा को बदलने के लिए डिज़ाइन किया गया है
Feedback यह केवल भौतिक मात्रा को मापता है और वांछित प्रणाली को अपने आप इनपुट नहीं दे सकता है। एक ट्रांसड्यूसर ऊर्जा के किसी भी रूप के बीच परिवर्तित हो सकता है, उनका उपयोग सिस्टम को प्रतिक्रिया प्रदान करने के लिए किया जा सकता है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना की Transducer और Sensor किसे कहते है और Difference Between Transducer and Sensor in Hindi की Transducer और Sensor में क्या अंतर है।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read