USB 2.0 और USB 3.0 में क्या अंतर है?

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे USB 2.0 और USB 3.0 किसे कहते है और Difference Between USB 2.0 and  USB 3.0in Hindi की USB 2.0 और USB 3.0 में क्या अंतर है?

USB 2.0 और USB 3.0 में क्या अंतर है?USB 2.0 और USB 3.0 में क्या अंतर है?

USB का फुलफॉर्म Universal Serial Bus होता है यह एक industry standard है जो कंप्यूटर, बाह्य उपकरणों और कंप्यूटरों के बीच कनेक्शन, संचार और बिजली आपूर्ति के लिए केबल और कनेक्टर और प्रोटोकॉल के लिए विशिष्टताओं को स्थापित करता है।

USB आज के कंप्यूटरों में उपयोग किया जाने वाला सबसे सामान्य प्रकार का कंप्यूटर पोर्ट है। इसका उपयोग कीबोर्ड,माउस, गेम कंट्रोलर, प्रिंटर, स्कैनर, डिजिटल कैमरा और रिमूवेबल मीडिया ड्राइव को जोड़ने के लिए किया जा सकता है।

आज के समय में USB क्या होती है इसको तो हम सब लोग जानते है और इस्तेमाल भी करते है लेकिन शायद ही आपको पता हो की USB के Version USB 2.0 और USB 3.0 में क्या अंतर है। सबसे पहले USB 2.0 रिलीज़ किया गया था। बाद इसके  दूसरे  Version USB 3.0 को रिलीज़ किया गया।

अगर USB 2.0 और USB 3.0 बीच के मुख्य अंतर की बात की जाये  तो यह है की दोनों की डेटा ट्रांसफर की गति एक दूसरे से भिन्न है जहां USB 2.0 0 480 Mbps की दर से डेटा को ट्रांसफर कर सकता है तो वही दूसरी ओर, USB 3.0 5 Gbps तक की स्पीड से डेटा को ट्रांसफर करता है।

USB 2.0 और USB 3.0 के बीच कई अन्य अंतर हैं जैसे कि इंटरफ़ेस की भौतिक संरचना, कनेक्टर,कम्युनिकेशन के प्रकार और तारों की संख्या आदि, जिनके बारे में हम नीचे डिफ्रेंस टेबल के माध्यम से अच्छे से जानेंगे लेकिन उससे पहले हम USB 2.0 और USB 3.0 क्या होता है इसको और अच्छे से जान लेते है।

What is USB 2.0 in Hindi-USB 2.0 क्या होता है?

सबसे पहले USB 2.0 को वर्ष 2000 में पेश किया गया था इससे पहले USB 1.1 का उपयोग किया जाता था। USB 1.1 की तुलना में USB 2.0  अधिक कार्यक्षमता और डेटा को ट्रांसफर करने की स्पीड प्रदान करता है। USB 2.0 अधिकतम 480 एमबीपीएस की ट्रांसफर स्पीड दे सकता है। हालांकि, व्यावहारिक रूप से प्रभावी गणना थ्रूपुट लगभग 280 Mbps हो सकता है।

Working of USB-USB कैसे काम करती है?

USB में चार-तार केबल इंटरफ़ेस का उपयोग किया जाता है। उनमे से दो तारों को डेटा को ट्रांसमिट और रिसीव किया जाता है और बाकी दो तारो का उपयोग पॉवर सप्लाई के लिए किया जाता है। प्रत्येक USB केबल के अंत में दो कनेक्टर होते हैं, एक अपस्ट्रीम कम्युनिकेशन के लिए और दूसरा डाउनस्ट्रीम के लिए होता है। USB केबल की अधिकतम लंबाई 5 मीटर तक हो सकती है।

USB के लिए चार प्रकार के डेटा ट्रांसफर मोड हैं जो कंट्रोल ट्रांसफर, बल्क डेटा ट्रांसफर, आइसोक्रोनस ट्रांसफर और इंटरप्ट डेटा ट्रांसफर हैं।  जिनके बारे में डिटेल्स में नीचे बताया गया है।

Control Transfer -कण्ट्रोल ट्रांसफर का कार्य डिवाइस को कॉन्फ़िगर करना और स्थिति की जानकारी पढ़ना है।

Bulk Transfer Mode -इसका उपयोग भारी मात्रा में डेटा और तीन चरणों को लागू करने के लिए किया जाता है: टोकन पैकेट, डेटा पैकेट और अंतिम हैंडशेक पैकेट पर।

Isochronous Transfer Mode -इस मोड को सबसे अच्छा Effort Mode माना जाता है क्योंकि यह अधिकतम 1024 बाइट्स के साथ पैकेट का उपयोग करता है। डेटा की डिलीवरी का कोई आश्वासन नहीं है और यह हैंडशेक चरण का संचालन भी नहीं करता है।

Interrupt Transfer Mode -इसका उपयोग डेटा के Periodic Transfer के लिए किया जाता है – उदाहरण के लिए, एक माउस या कीबोर्ड।

What is USB 3.0 in Hindi-USB 3.0 क्या होता है?

USB 3.0 कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के इंटरफेस के लिए Universal Serial Bus standard  का तीसरा प्रमुख Version है और यह USB 2.0 का ही अपडेटेड Version है और इसमें बहुत सारे सुधार किये गए हैं  USB 3.0 डेटा को ट्रांसफर करने के लिए सुपर स्पीड प्रोवाइड करता है यह 5 Gbps की  स्पीड से डाटा को ट्रांसफर करता है जो USB 2.0 से लगभग 10 गुना तेज है।

USB 3.0 को नवंबर 2008 में जारी किया गया था। आज निर्मित होने वाले अधिकांश नए कंप्यूटर और डिवाइस इस USB 3.0 Standard को  सपोर्ट करते हैं जिसे अक्सर सुपरस्पीड यूएसबी के रूप में जाना जाता है।

Difference Between USB 2.0 and  USB 3.0in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की USB 2.0 और USB 3.0 किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको USB 2.0 और USB 3.0  के बीच क्या अंतर है इसके बारे में अच्छे से पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी USB 2.0 और USB 3.0 क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई कन्फ़्युशन है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

BASIS FOR COMPARISON USB 2.0 USB 3.0
Physical structure Black block inside the USB port. Blue block inside the USB port.
Data transmission rate 480 Mbps 4800 Mbps
Type of communication One-way Two-way
Amount of power delivery 500 mA 900 mA
Compatibility Will work with USB 3.0 port USB 3.0 is entirely backward compatible.
Number of wires 4 9
Length of the cable 5 meters 3 meters
Standard-A connectors colour Grey Blue
Standard-B connectors Small Bigger in size
Signalling technique Polling mechanism Asynchronous mechanism
Price Less expensive Costly comparatively.

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे USB 2.0 और USB 3.0 किसे कहते है और Difference Between USB 2.0 and  USB 3.0in Hindi की USB 2.0 और USB 3.0 में क्या अंतर है?

अगर संक्षेप में कहे तो USB के Version USB 3.0 में कई लाभ हैं क्योंकि यह USB 2.0 का एक Updated Version  है। यह डेटा को ट्रांसफर करने के लिए सुपर स्पीड प्रदान करता है।

Related Differences:

DLP और LCD Projector में क्या अंतर है?

SIMD और MIMD में क्या अंतर है?

CRT और LCD में क्या अंतर है?

SATA और PATA में क्या अंतर है?

DDR2 और DDR3 में क्या अंतर है?

CPU और GPU में क्या अंतर है?

VGA और HDMI में क्या अंतर है?

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
Hi Friends, I'm Ravi Giri Admin of HindiTechAcademy दोस्तों मुझे कंप्यूटर, मोबाइल और इन्टरनेट टेक्नोलॉजी में काफी रूचि है, और इसी से संबधित हर रोज़ एक नयी चीज़ अपने ब्लॉग पर पोस्ट करता रहता हूँ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read