Mobile App संबंधित अपराध क्या होते है और किसी Fake Android App को कैसे पहचाने?

अगर आप स्मार्टफोन इस्तेमाल करते है तो उसमे तरह  के Mobile App भी जरूर होंगे, लेकिन क्या आपको पता है कि एक App आपके स्मार्टफोन से लेकर आपके सोशल मीडिया अकाउंट तक को हैक कर सकता है। जी हां, ये सच है। गूगल प्ले स्टोर पर कई Apps है जिन्हें डाउनलोड करने पर आपके स्मार्टफोन में वायरस आ सकते हैं। इसके अलावा आपके फोन को हैक भी किया जा सकता है। ये समस्या बहुत ही गंभीर है और इसीलिए Mobile App संबंधित अपराध क्या होते है और किसी Fake Android App को कैसे पहचाने?

अपने Email Account को Hackers से कैसे बचाएं?

Mobile App संबंधित अपराध क्या होते है?

स्मार्टफोन का  इस्तेमाल हर देश में लगातार बढ़ाता जा रहे हैं और आने वाले सालो में इसके यूजर और भी बढ़ेंगे। स्मार्टफोन के बढ़ते क्रेज के बीच यूजर्स नए नए एप्स भी इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे में जब फोन खरीदते हैं तो फिर उसमें कई तरह की एप्स को डाउनलोड कर लेते हैं। कई बार ये एप्स यूजर्स के लिए खतरे से कम साबित नहीं होती हैं। इन कुछ App में वायरस होता है तो कुछ आपकी बातचीत पर नजर रखते हैं। इस तरीके के Mobile App को बनाना साइबर अपराध के अंतर्गत आता है | हाल ही में आई एक रिपोर्ट में करीब 100 App के बारे में बताया गया है जो आपके स्मार्टफोन से लेकर आन लाइन अकाउंट को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

Mobile App संबंधित अपराध क्या होते है और किसी Fake Android App को कैसे पहचाने?

आज के  समय में हर चीज के लिए मार्किट में अलग अलग Apps उपलब्ध है ऐसे में जरूरी है कि लोगों को किसी भी चीज पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं करना चाहिए। इंटरनेट से जुड़ी हर चीज में कहीं न कहीं कोई समस्या जरूर हो सकती है,

Fake apps क्या है ?

नकली मोबाइल Apps Android या iOS Application हैं जो असली App की नक़ल करके बनाये जाते है।  इनको बिल्कुल असली App की तरह बनाया जाता है। जब कोई Users इस प्रकार के Apps को अपने मोबाइल में Download करके Install करते है तो यह एप्लिकेशन आपके मोबाइल में कई प्रकार के दुर्भावनापूर्ण कार्य करते हैं। कुछ Apps को तो केवल इसी लिए Develop किया जाता है की वह आपके मोबाइल में ज़्यदा  से ज़्यदा आक्रामक रूप से विज्ञापन प्रदर्शित करके पैसा कमा सके |

इण्डिया में साइबर क्राइम करने पर कानून और सजा ?

बहुत सारे ऐसे भी Apps होते है जो एक SPY का काम करते है, इस प्रकार के Apps आपके मोबाइल के सवेंदनशील डाटा को चुरा सकते है या आपके ऑनलाइन एकाउंट्स को हैक कर सकते है। यहाँ तक आपकी व्यक्तिगत और Financial Information चुराने के उद्देश्य से नकली ऐप्स ग्राहकों को अवैध वेबसाइटों पर Redirect कर सकती हैं।

Computer Virus क्या है और वायरस से अपने कंप्यूटर को कैसे बचाएं ?

किसी Fake Android App को कैसे पहचाने?

Know About App Developer

अपने मोबाइल में किसी Apps को Install करने से पहले उसके बारे यह ज़रूर जान की की उस App का Developer कौन है।  Google Play Store में उप्लब्ध सभी Apps पर Developer की डिटेल्स सबसे ऊपर ही दी जाती है | Apps Developer के बारे में यह भी जानकारी लें कि उसके द्वारा चलाई जा रही वेबसाइट कितनी ऑथेंटिक है।

App Permission 

अब जब भी अपने मोबाइल में कोई App Install करते हो तो वह आपसे कुछ Permission के बारे में पूछता है, यह सबसे ज़्यदा ज़रूरी है की आप जब भी कोई App इनस्टॉल करें तो उसके द्वारा मांगे जाने वाले सभी App परमिशंस को ध्यान से पढ़ें। और आपको कौन सी Permission देनी या नहीं देनी है यह Mobile App पर निर्भर करता है।

Cyber Bullying क्या है और साइबर बुलिंग से कैसे बचें?

App Review

ऐप्स के बारे में अक्सर उसे यूज करने वाले यूजर्स रिव्यू देते हैं। ये ऐप के बारे में जानने का सबसे अच्छा तरीका है। किसी भी ऐप को डॉउनलोड करने से पहले उसके रिव्यूज जरुर पढ़ लें। अगर वो कोई नकली एप है तो किसी न किसी यूजर द्वारा इसकी जानकारी रिव्यू में जरूर दी गई होगी।

Publish Date

एप के पब्लिश डेट से भी उसके रीयल व फेक होने का पता चल सकता है। किसी भी फेक एप पर आपको रीसेंट(recent ) डेट मिलेगी, जबकि रीयल एप पर ‘updated on’ तारीख का ब्यौरा मिलेगा। इसलिए एप को फोन में डाउनलोड करने से पहले उसकी तारीख को भी जरूर चेक करें।

Check the Download Count

यदि आप एक लोकप्रिय ऐप डाउनलोड कर रहे हैं, तो हमेशा Download Number पर एक नज़र डालें। मान लीजिए कि आप फेसबुक ऐप इंस्टॉल कर रहे हैं जो Google Play में सबसे अधिक डाउनलोड किए जाने वाले ऐप में से एक है जिसे अब तक  एक बिलियन से अधिक बार Download किया जा चूका है।

ऑनलाइन गेमिंग साइबर क्राइम क्या है और इससे कैसे बचे?

Conclusion

दोस्तों आज की इस पोस्ट से हमने जाना की की Mobile App संबंधित अपराध क्या होते है और किसी Fake Android App को कैसे पहचाने? हमेशा किसी भी ऐप को सिर्फ ऑफिशियल ऐप स्टोर से ही डॉउनलोड करें। इससे नकली ऐप डॉउनलोड होने का खतरा कम हो जाता है। अगर आपको Play Store पर कोई नकली App मिलता है तो उसको Report करना न भूले  दोस्तों मुझे उम्मीद है की आज की यह पोस्ट आपको ज़रूर पसंद आयी होगी !

Leave a Reply