INR ka Full form in Hindi-INR किसे कहते हैं?

इस पोस्ट में हम जानेगे INR ka Full form in Hindi-INR किसे कहते हैं? अगर आप एक स्टूडेंट है और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है तो आपको INR ka Full form पता होना चाहिए क्योकि खासकर हर परीक्षाओं में फुलफॉर्म से संबंधित एक-दो प्रशन जरूर पूछे जाते है।

अगर आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ेंगे तो आपको INR ka Full form के आलावा INR किसे कहते हैं? इसके बारे में भी आपको अच्छी तरह से जानकारी मिल जाएगी।

INR ka Full form in Hindi-INR किसे कहते हैं?

INR का फुलफॉर्म Indian Rupee होता है। यह भारतीय गणराज्य की एक आधिकारिक मुद्रा का नाम है जिसे भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी और नियंत्रित किया जाता है।

रुपए को पैसे में विभाजित किया जा सकता है। भारत के 1 रुपया = 100 पैसे, यानी 1957 में रुपया 100 पैसे पैसे में विभाजित है। भारतीय रुपया सिक्कों के मूल्यवर्ग और नोटों के मूल्यवर्ग में उपलब्ध है। सिक्का मूल्यवर्ग में 1, 2, 5, 10 रुपये के सिक्के हैं और नोटों के मूल्यवर्ग में 1, 2, 5, 10, 20, 50, 100, 200, 500, 2000 रुपये के नोट हैं। कभी-कभी, 1 पैसे, 2 पैसे, 5 पैसे आदि के मूल्यवर्ग भी थे, लेकिन अब इन छोटे सिक्को को हटा दिया गया है।

यह माना जाता है कि रुपया पहली बार Middle Ages(1486-1545) में शेर शाह सूरी द्वारा 40 रुपये प्रति तांबे के मूल्य पर पेश किया गया था। 1770 में कागजी रुपए जारी किए गए थे। ब्रिटिश शासन के दौरान और बाद में, एक रुपये को 16 annas राशि के बराबर या बराबर में बांटा गया था। भारतीय रुपये “₹” का प्रतीक भारत सरकार द्वारा 2010 में अपनाया गया है। यह देवनागरी व्यंजन “ऱ” से लिया गया है।

Security Issue in Indian Rupee

भारतीय रुपये में सुरक्षा सुविधाओं का कार्यान्वयन बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि भारतीय रुपये के नोट के डुप्लीकेट होने की संभावना हमेशा बनी रहती है। नकली नोट अर्थव्यवस्था के बिगड़ने का बड़ा कारण हो सकते हैं।

नकल से बचने के लिए निम्नलिखित विशेषताएं शामिल हैं:

  • Insert security thread
  • Use Identification marks
  • Watermarking
  • Use of optically variable ink
  • Fluorescence

Conclusion 

इस पोस्ट के माध्यम से हमने जाना INR ka Full form in Hindi इसके साथ ही INR किसे कहते हैं इसको भी हमने अच्छे से समझा।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read