ISO ka Full form in Hindi-ISO किसे कहते हैं?

इस पोस्ट में हम जानेगे ISO ka Full form in Hindi-ISO किसे कहते हैं? अगर आप एक स्टूडेंट है और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है तो आपको ISO ka Full form पता होना चाहिए क्योकि खासकर हर परीक्षाओं में फुलफॉर्म से संबंधित एक-दो प्रशन जरूर पूछे जाते है।

अगर आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ेंगे तो आपको ISO ka Full form के आलावा ISO किसे कहते हैं? इसके बारे में भी आपको अच्छी तरह से जानकारी मिल जाएगी।

ISO ka Full form in Hindi-ISO किसे कहते हैं?

ISO का फुलफॉर्म International Organization for Standardization होता है। ISO एक स्वतंत्र, गैर-सरकारी, गैर-लाभकारी, विश्वव्यापी संगठन है जो अंतर्राष्ट्रीय मानकों का विकास और प्रकाशन करता है।

यह उत्पादों और सेवाओं के लिए एक मानक प्रदान करता है। ये मानक दुनिया भर में स्वीकार किए जाते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि उत्पाद और सेवाएं सुरक्षित, विश्वसनीय और अच्छी गुणवत्ता की हों।

ISO स्वैच्छिक अंतर्राष्ट्रीय मानकों का दुनिया का सबसे बड़ा डेवलपर है। इसका मुख्यालय स्विट्जरलैंड के जिनेवा में है और आधिकारिक भाषाएं अंग्रेजी, फ्रेंच और रूसी हैं। दुनिया भर में 165 सदस्य देश इसके राष्ट्रीय मानक निकाय हैं।

ISO क्या काम करता है?

आईएसओ सुरक्षा, गुणवत्ता और दक्षता सुनिश्चित करने के लिए उत्पादों, सेवाओं और प्रणालियों के लिए विश्व स्तरीय विनिर्देश प्रदान करता है।

आईएसओ द्वारा प्रकाशित 19500 से अधिक अंतर्राष्ट्रीय मानक हैं, जो हर उद्योग, प्रौद्योगिकी, खाद्य सुरक्षा, कृषि और स्वास्थ्य सेवा को कवर करते हैं।

ISO का इतिहास?

1946 में, लंदन में सिविल इंजीनियर्स संस्थान में मुलाकात करने वाले 25 देशों के प्रतिनिधियों ने अंतर्राष्ट्रीय समन्वय और औद्योगिक मानकों के एकीकरण की सुविधा के लिए एक अंतरराष्ट्रीय संगठन स्थापित करने का निर्णय लिया। फरवरी 1947 में, आईएसओ स्थापित किया गया था और आधिकारिक तौर पर इसके संचालन शुरू हुए।

यह अंतर्राष्ट्रीय संगठन के लोकप्रिय मानकों की एक सूची है:

ISO 9000: इसका उपयोग गुणवत्ता प्रबंधन के मानकीकरण के लिए किया जाता है।

ISO 10012: इसका उपयोग प्रबंधन प्रणाली को मापने के लिए किया जाता है।

ISO 14000: इसका उपयोग पर्यावरण प्रबंधन के मानकीकरण के लिए किया जाता है।

ISO 19011: यह प्रबंधन प्रणाली का लेखा परीक्षण करने के लिए एक दिशानिर्देश प्रदान करता है।

ISO 2768-1: इसका उपयोग सामान्य सहिष्णुता के लिए एक मानक प्रदान करने के लिए किया जाता है।

ISO 31000: यह जोखिम प्रबंधन के लिए एक मानक है।

ISO 50001: यह ऊर्जा प्रबंधन के लिए एक मानक है।

ISO 4217: इसका उपयोग मुद्रा कोड के मानकीकरण के लिए किया जाता है।

Conclusion

इस पोस्ट के माध्यम से हमने जाना ISO ka Full form in Hindi इसके साथ ही ISO किसे कहते हैं इसको भी हमने अच्छे से समझा।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read