Cryptography क्या है इसका उपयोग करके अपने डेटा को सुरक्षित कैसे करें?

Information(Data) किसी  व्यापार, organizations, military operations आदि के संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।आपके organizations की  Information(Data) अगर गलत हाथों में  चली गयी तो यह आपके Organization के लिए बहुत ही विनाशकारी परिणाम हो सकता हैं। Information(Data) और communication को सुरक्षित करने के लिए Cryptography  का उपयोग कर सकता है। आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की Cryptography क्या है इसका उपयोग करके अपने डेटा को सुरक्षित कैसे करें?

इस लेख में, हम आपको cryptology की दुनिया से परिचित कराएंगे और और यह भी बताएँगे की कैसे आप गलत हाथों में अपनी Information(Data) को जाने से सुरक्षित कर सकते हैं।

What is Cryptography in Hindi-Cryptography क्या है?

Cryptography  techniques का अध्ययन और application  है जो आपके data, information और Communication को उसके वास्तविक अर्थ को  Encrypt करके उसके असली information को Hide कर देता है और उसको गैर-पढ़ने योग्य  बदल देता है ताकि कोई Human उसे पढ़ न सके।

एक उदाहरण की सहायता से हम Cryptography  techniques को समझने की कोशिश करते हैं। मान लीजिए कि आप किसी को “I LOVE APPLES” संदेश भेजना चाहते हैं, तो इस वाक्य को Cryptography  automatically ही Encrypt कर दे सेंड कर देगा और मैसेज Destination पर automatically Decryption  हो जायेगा ताकि Users उसको पढ़ सके।

Information को Nonhuman readable  के रूप में बदलने की प्रक्रिया को एन्क्रिप्शन कहा जाता है। और एन्क्रिप्शन को उलटने की प्रक्रिया को डिक्रिप्शन कहा जाता है ताकि उसको human read कर सके। एन्क्रिप्ट की गई जानकारी को  cipher के रूप में जाना जाता है।

What is Cryptanalysis in Hindi-Cryptanalysis क्या है?

Cryptanalysis Information को encrypt  करने के लिए उपयोग की गई key के उपयोग के बिना ही उसको  decrypt करने की Technique है, और इस Process को Cryptanalysis कहा जाता हैं । Cryptanalysis ciphers (Encrypted Information) को समझने के लिए mathematical analysis  और algorithms का उपयोग करता है। क्रिप्टोनालिसिस हमलों की सफलता निर्भर करती है

  • Amount of time available
  • Computing power available
  • Storage capacity available

The following is a list of the commonly used Cryptanalysis attacks;

  • Brute force attack– इस प्रकार के हमले में एल्गोरिदम का उपयोग किया जाता है जो कि प्लेनटेक्स्ट के सभी संभावित तार्किक संयोजनों का अनुमान लगाने की कोशिश करता है।
  • Dictionary attack–इस प्रकार के Attack में plaintext or key का मिलान खोजने के लिए wordlist  का उपयोग किया जाता है। यह ज्यादातर एन्क्रिप्टेड पासवर्ड को क्रैक करने की कोशिश में उपयोग किया जाता है।
  • Rainbow table attack– this type of attack compares the cipher text against pre-computed hashes to fin matches.

What is cryptology?

Cryptology  cryptography और cryptanalysis  की techniques को combine करता है। Cryptology में codes का अध्ययन किया जाता है, जो उन्हें बनाते और हल करते हैं। Cryptology  Programming Code बनाने की कला है। जबकि Cryptanalysis  कोड को तोड़ने, कोड को संदेश देने की सामग्री का खुलासा करने की कला है, जो प्राप्तकर्ता के रूप में आपके लिए नहीं थे।

Encryption Algorithms

MD5– यह  Message-Digest 5 के लिए acronym नाम है। इसका उपयोग create 128-bit hash values को  बनाने के लिए किया जाता है। सैद्धांतिक रूप से, hashes को original plain text  में नहीं बदला जा सकता है। MD5 का उपयोग पासवर्ड एन्क्रिप्ट करने के साथ-साथ data integrity  की जांच करने के लिए किया जाता है।

SHA– यह Secure Hash Algorithm के  लिए संक्षिप्त नाम है। SHA एल्गोरिदम का उपयोग किसी संदेश (message digest) के generate condensed representations  करने के लिए किया जाता है।

  • SHA-0:  produces 120-bit hash values. It was withdrawn from use due to significant flaws and replaced by SHA-1.
  • SHA-1:  produces 160-bit hash values. It is similar to earlier versions of MD5. It has cryptographic weakness and is not recommended for use since the year 2010.
  • SHA-2:  it has two hash functions namely SHA-256 and SHA-512. SHA-256 uses 32-bit words while SHA-512 uses 64-bit words.

SHA-3: इस एल्गोरिथ्म को औपचारिक रूप से Keccak  के रूप में जाना जाता था।

RC4– इस एल्गोरिथ्म का उपयोग stream ciphers  बनाने के लिए किया जाता है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर Secure Socket Layer (SSL)  जैसे प्रोटोकॉल में किया जाता है RC4 को वायरलेस नेटवर्क को सुरक्षित करने के लिए internet communication और Wired Equivalent Privacy (WEP) को एन्क्रिप्ट करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

BLOWFISH– इस algorithm का उपयोग keyed  और symmetrically blocked ciphers बनाने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग पासवर्ड और अन्य डेटा को एन्क्रिप्ट करने के लिए किया जा सकता है।

Conclusion

दोस्तों आज की इस पोस्ट से हमने सीखा की की Cryptography क्या है इसका उपयोग करके अपने डेटा को सुरक्षित कैसे करें? What is Cryptanalysis in Hindi-Cryptanalysis क्या है? What is cryptology in hindi क्या है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here