MGNREGA और NREGA क्या है-नरेगा योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

दोस्तों आज की इस पोस्ट में बात करेंगे की MGNREGA और NREGA क्या है-नरेगा योजना के तहत आवेदन कैसे करें? नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021: नई MGNREGA कार्ड सूची, NREGA Card रजिस्ट्रेशन

What is MGNREGA or NREGA in Hindi-मनरेगा या नरेगा योजना क्या है?

NREGA का फुल फॉर्म NREGA is National Rural Employment Guarantee Act है। अधिनियम के पारित होने के बाद में NREGA के नाम को बदलकर इसका नाम MGNREGA रखा गया, जिसका फुलफॉर्म Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act है।

मनरेगा या नरेगा योजना को एक सामाजिक उपाय के रूप में पेश किया गया था जो भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगो को “काम करने के अधिकार” की गारंटी देता है। इस सामाजिक माप और श्रम कानून का मुख्य सिद्धांत यह है कि स्थानीय सरकार को अपने जीवन स्तर को बढ़ाने के लिए ग्रामीण भारत में कम से कम 100 दिनों का वेतन रोजगार प्रदान करना होगा।

नरेगा भारत के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगो के लिए में विशेष रूप से एक बहुत ही अच्छी योजना है। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के वर्तमान प्रावधानों के तहत परिवार के हर सदस्य को जो अकुशल श्रम करने के लिए स्वेच्छा से काम किया है, उन्हें सरकार द्वारा साल में कम से कम 100 दिनों का कार्य प्रदान किया जाएगा।

नरेगा  योजना के तहत ग्रामीण श्रमिकों द्वारा प्रदान किए गए कार्य का उपयोग ग्रामीण भारत में विभिन्न दीर्घकालिक अचल संपत्तियों जैसे कुओं, तालाबों, सड़कों और नहरों के निर्माण के लिए किया जाएगा। इसलिए, नरेगा का प्रमुख कार्यात्मक क्षेत्र ग्रामीण भारत है जिसमें देश के अप्रयुक्त या कम उपयोग वाले ग्रामीण कार्यबल का उपयोग करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

Key Objectives of MGNREGA-मनरेगा योजना का मुख्य उद्देश्य

मनरेगा को दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे महत्वाकांक्षी सामाजिक परियोजना के रूप में जाना जाता है  जिसे निम्नलिखित प्रमुख उद्देश्यों को ध्यान में रखकर बनाया गया है नरेगा या मनरेगा योजना के कुछ मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित  हैं –

  • नरेगा योजना का सबसे मुख्य उद्देश्य तो यही है की ग्रामीण कामगारों को हर साल  में कम से कम 100 दिनों का रोजगार प्रदान करना, ताकि ग्रामीण परिवार पैसा कमाकर अपनी जीविका को चला सकें।
  • नरेगा योजना पूरे भारत में पंचायती राज प्रतिष्ठानों को मजबूत करने का लक्ष्य रखती है।
  • ग्रामीण आजीविका सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा, और सशक्तिकरण प्रदान करने के साथ-साथ ग्रामीण वर्गों के विकास के लिए देश भर में मनरेगा की स्थापना की गई है।
  • इसके अतिरिक्त नरेगा द्वारा प्रदान किये गए गारंटीकृत मजदूरी रोजगार की पेशकश के द्वारा स्थानीय अर्थव्यवस्था में सुधार किया जा सकता है।
  • सरकार का उद्देश्य यह भी है कि वह इस स्थिति को बढ़ाए और सामाजिक रूप से वंचित लोगों  जैसे की अनुसूचित जनजाति (एसटी), अनुसूचित जाति (एससी) और महिलाओं को को सशक्त बनाए।

Eligibility for NREGA Scheme-नरेगा योजना के लिए पात्रता

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम यानी MGNREGA या NREGA आज के समय में सभी राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में लागू है और केंद्र सरकार द्वारा प्रशासित है।

मनरेगा के तहत रोजगार पाने की पात्रता के मानदंड को काफी सरल रखा गया है ताकि बड़ी संख्या में ग्रामीण आवेदक योजना का लाभ उठा सकें। नरेगा योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैं:

  • यह योजना देश भर के सभी ग्रामीण क्षेत्रों के व्यक्तियों पर लागू होती है जिसे केंद्र सरकार द्वारा प्रशासित किया जाता है।
  • नरेगा लाभ लेने के लिए व्यक्ति को भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • नरेगा में रोजगार पाने के लिए आपकी उम्र 18 साल से कम न हो।
  • नरेगा आवेदक एक स्थानीय घराने का हिस्सा होना चाहिए यानी स्थानीय ग्राम पंचायत के साथ आवेदन किया जाना चाहिए।
  • अकुशल श्रम के लिए आवेदक को स्वयंसेवक होना चाहिए।

What is MGNREGA or NREGA Job Card-मनरेगा या नरेगा जॉब कार्ड क्या है?

मनरेगा या नरेगा जॉब कार्ड (JC) एक ऐसा डॉक्यूमेंट है जो एक आवेदक को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) योजना के तहत स्थानीय ग्राम पंचायत के साथ पंजीकृत होने के बाद जारी किया जाता है। NRGEA जॉब कार्ड भी योजना के तहत नामांकित व्यक्ति के लिए एक पहचान प्रमाण के रूप में कार्य करता है।

मनरेगा या नरेगा कार्ड में पंजीकृत व्यक्ति के सभी प्रासंगिक विवरण दिया होता है इनमें व्यक्ति का नाम, नरेगा पंजीकरण संख्या, गृहस्थी का विवरण इत्यादि शामिल हैं। जॉब कार्ड भी योजना के तहत व्यक्तियों के अधिकारों के प्रमाण के रूप में कार्य करता है। MGNREGA जॉब कार्ड का उपयोग बैंक खाते या डाकघर बचत खाते खोलने के समय वैध केवाईसी दस्तावेज के रूप में भी किया जा सकता है।

How to Apply for MGNREGA Job Card in Hindi-MGNREGA जॉब कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें?

मनरेगा या नरेगा के तहत अपने MGNREGA जॉब कार्ड के लिए आवेदक अपने आवेदन या तो लिखित बयान के रूप में या मौखिक रूप से अपने एरिया के वार्ड सदस्य, ग्राम पंचायत को करें। इसके लिए नरेगा जॉब कार्ड आवेदन पत्र स्थानीय ग्राम पंचायत से लिया जा सकता है या आवेदन सादे कागज पर किया जा सकता है।

वर्तमान में, MGNREGA जॉब कार्ड आवेदन प्रक्रिया ग्रामीण भारत में इंटरनेट की कम उपलब्धता के कारण पूरी तरह से ऑफ़लाइन ही आयोजित की जाती है। हालांकि, आधिकारिक नरेगा वेबसाइट (www.nrega.nic.in) पर व्यक्तियों को नरेगा जॉब कार्ड एप्लीकेशन फॉर्म को मुफ्त में डाउनलोड करने का विकल्प देती है।

MGNREGA जॉब कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स

अगर आप MGNREGA जॉब कार्ड के लिए आवेदन कर रहे है तो उसके लिए आपके पास कुछ जरुरी डाक्यूमेंट्स अवश्य होने चाहिए जो नीचे दिए गए है।

• आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो।
• घर से सभी नरेगा जॉब कार्ड आवेदकों के नाम, आयु और लिंग की जानकारी।
• गाँव का नाम
• ग्राम पंचायत का नाम
• ब्लॉक का नाम
• आवेदक (एस) / एससी / एसटी / आईएवाई / एलआर के लाभार्थी हैं या नहीं, इसका विवरण
• आवेदकों के हस्ताक्षर / अंगूठे का निशान

उपरोक्त दिए गए डाक्यूमेंट्स के आलावा व्यक्ति को पहचान करने और  उसके निवास के प्रमाण के रूप में निम्नलिखित दस्तावेज भी देने होंगे:

  • राशन कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आई कार्ड
  • आधार कार्ड

अगर आप MGNREGA जॉब कार्ड के लिए पात्र पाए जाते है और आपके सारे दिए गए पेपर सही है तो MGNREGA जॉब कार्ड आमतौर पर आवेदन पत्र जमा करने के दिन से 15 दिनों के भीतर प्रदान कर दिया जाता।

MGNREGA Payment Process-मनरेगा या नरेगा में काम करने के बाद पैसे कैसे मिलते है?

मनरेगा या नरेगा में काम करने के बाद प्रदान किए गए काम के आधार पर ही मजदूरी की गणना होती है और नरेगा के मामले में प्राथमिक भुगतान प्रक्रिया सीधे जॉब कार्ड धारक के बैंक खाते में ही ट्रांसफर की जाती है।

यदि किसी कारण मनरेगा में काम करने वाले व्यक्ति के पास बैंक खाता नहीं है तो वह केआरसी दस्तावेजी प्रमाण के रूप में नरेगा जॉब कार्ड का उपयोग करके बैंक खाता खोल सकता है।

कुछ मामलों में ग्राम पंचायत के प्रधान द्वारा पैसो का भुगतान नकद में किया जा सकता है। यह उस क्षेत्र के डाकघरों और बैंकों के कमजोर प्रवेश के कारण हो सकता है जहां मनरेगा का भुगतान किया जाना है। हालाँकि, नरेगा भुगतान की प्रक्रिया की अनुमति केवल पूर्व ज्ञान और मंत्रालय और राज्य सरकारों से अनुमोदन के साथ दी जाती है।

How to Check NREGA Account Balance in Hindi-नरेगा अकाउंट बैलेंस कैसे चेक करें?

वर्तमान समय में में नरेगा अकाउंट बैलेंस राशि की जाँच करने का कोई भी ऑनलाइन तरीका नहीं है हां लेकिन नरेगा जॉब कार्ड में कुछ विवरण होते हैं, जिनका उपयोग ग्राहक अपने नरेगा भुगतान की जाँच करने के लिए कर सकते हैं।

जॉब कार्ड में कार्यकर्ता द्वारा काम किये गए दिनों की संख्या का विवरण होता है और काम के प्रत्येक दिन के लिए एक निश्चित वेतन होता है जो मनरेगा जॉब कार्ड पर अच्छी तरह से अपडेट किया गया होता है।

दैनिक वेतन की दर एक राज्य से दूसरे राज्य में भिन्न होती है और समय-समय पर बदलती भी रहती है। राज्य सूची द्वारा नरेगा दैनिक मजदूरी के आंकड़ों का उपयोग करके, भविष्य के वेतन के संबंध में नरेगा खाते की शेष राशि की जांच करना संभव है।

मनरेगा या नरेगा से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण प्रशन 

प्रशन-वरिष्ठ नागरिकों के लिए नरेगा योजना के प्रावधान क्या हैं?

उत्तर-जिन वरिष्ठ नागरिकों को उनके परिवारों द्वारा छोड़ दिया जाता है या उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है, वे भी मनरेगा योजना के तहत नामांकन कर सकते हैं। वरिष्ठ नागरिकों को विशेष श्रेणी के श्रमिकों में शामिल किया जा सकता है। ग्राम पंचायतें विशेष वरिष्ठ नागरिक समूह बना सकती हैं और उन्हें कोई आसान सा काम दे सकती है।

प्रशन-वे कौन से कार्यकर्ता हैं जो मनरेगा योजना के अनुसार विशेष श्रेणी में आते हैं?

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के अनुसार, विशेष श्रेणी के तहत आने वाले श्रमिक इस प्रकार हैं –

  • विकलांग व्यक्ति
  • घुमंतू जनजातीय समूह
  • आदिम जनजातीय समूह
  • डी-नोटिफाइड ट्राइब्स
  • महिला – विशेष परिस्थितियों में
  • वरिष्ठ नागरिक – 65 वर्ष से अधिक आयु के
  • आंतरिक रूप से विस्थापित व्यक्ति
  • एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति
  • बंधुआ मजदूर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here