What is Pharmaceutical Technology in Hindi-फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी क्या है?

अगर आप फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में कोर्स करना चाहते हैं और इसके बारे में सारी डिटेल्स जैसे की फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी क्या है, फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी कोर्स करने के क्या फायदे हैं और फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी का सिलेबस,स्कोप और इसको करने के बाद जॉब और सैलरी क्या मिलती है इन सब चीजों को अच्छे से डिटेल्स में इस पोस्ट में कवर किया गया है।

What is Pharmaceutical Technology in Hindi-फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी क्या है?

फार्मास्यूटिकल तकनीक चिकित्सा का एक क्षेत्र है जो विभिन्न दवाओं की तैयारी, खुराक और दुष्प्रभावों से संबंधित है। इस कोर्स में छात्रों को किसी भी दवा की गोलियों के उत्पादन में उपयोग की जाने वाली निर्माण प्रक्रिया और विभिन्न मशीनों पर बुनियादी ज्ञान प्रदान करता है।

इस कोर्स को करने के इच्छुक उम्मीदवार फार्मास्युटिकल और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र को मिलाकर वैज्ञानिक ज्ञान को काम में लागू करने में सक्षम होंगे। फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी से संबंधित 2 कोर्स हैं; एक फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में स्नातक और दूसरा फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में परास्नातक।

दोनों ही कोर्स फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में विशेषज्ञता (specialization) प्रदान करते हैं। जबकि फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी  से बी.टेक बेसिक ज्ञान प्रदान करता है, मास्टर कोर्स एक विशिष्ट  कोर्स में उन्नत ज्ञान प्रदान करता है।

Scope of Pharmaceutical Technology in India and Abroad

डिजाइनिंग से लेकर दवाओं के निर्माण और पैकेजिंग तक, फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी से ग्रेजुएट्स लोगो की हर जगह जरूरत होती है। फार्मास्युटिकल उद्योग का प्रत्येक क्षेत्र भारत के साथ-साथ विदेशों में भी बेहतरीन करियर विकल्प प्रदान करता है।

दवा के निर्माण के लिए एक अलग स्तर पर फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी स्नातक की आवश्यकता होती है जैसे नई दवाओं के लिए शोध, उनकी मान्यता, वितरण प्रणाली, विनिर्माण क्षेत्र को मापना आदि।

फार्मास्युटिकल क्षेत्र के अलावा, एक फार्मास्युटिकल प्रौद्योगिकी स्नातक अनुभव के आधार पर केमिकल इंजीनियरिंग, बायोप्रोसेसेस इंजीनियरिंग, रसायन विज्ञान या शिक्षण के क्षेत्र में काम कर सकता है।

भारत दवाओं के शीर्ष निर्माताओं में से एक है, इसलिए फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी क्षेत्र में लोगो को अच्छी नौकरी प्रदान करने की गुंजाइश बहुत विशाल है। भारत के साथ साथ इस क्षेत्र में विदेश में भी फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी से ग्रेजुएट लोगो की काफी डिमांड रहती है।

एक फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी इंजीनियर को R&D Labs में भी अच्छी नौकरी प्रदान की जाती है और इनका काम गुणवत्ता वाली दवाओं को डिजाइन करना, दवाओं का उत्पादन और निरीक्षण करना होता है।

Careers in Pharmaceutical Technology

जैसा की हमने ऊपर बताया की भारत दवाओं और टीकों  को बनाने में शीर्ष उत्पादकों में से एक है इसलिए यहाँ पर पर्याप्त संख्या में करियर विकल्पों अवसर है। अनुसंधान से लेकर नौकरियों और यहां तक कि व्यापार तक, यह उद्योग सबसे अधिक मांग में से एक है। ‘

यह भारतीय अर्थव्यवस्था के एक बड़े हिस्से का गठन करता है, फार्मास्युटिकल तकनीक कई महत्वाकांक्षी छात्रों को नौकरी के नए विकल्प और ध्वनि और अच्छा वेतन प्रदान करती है।

समाज के लिए सुरक्षित और बेहतर दवाओं के अनुसंधान और विकास को आगे बढ़ाने के लिए  ‘drug innovation and discovery’  जैसे क्षेत्र में प्रतिभाशाली युवा पेशेवरों की आवश्यकता है।

फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में करियर के विकल्प अंतहीन हैं। फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी सबसे प्रमुख उभरते क्षेत्रों में से एक है और लोग अब इसके महत्व को समझते हैं।

फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में जॉब प्रोफाइल्स

फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में कई नए जॉब प्रोफाइल देखे जा रहे हैं। कोर्स पूरा करने के बाद छात्र फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी में विभिन्न जॉब प्रोफाइल्स में काम कर सकते है जो उन्हें अच्छे पैकेज प्रदान करती है।

Scientific Research Manager-वैज्ञानिक अनुसंधान प्रबंधक एक व्यक्ति है जो प्रयोगशालाओं में हाल के शोधों और प्रयोगों को संभालता है और उनका प्रबंधन करता है। वे अनुसंधान कार्यों, डेटा एकत्र करने और विश्लेषण करने और परिणामों को संसाधित करने के प्रभारी हैं।

Drugs Analyst-इनका काम उचित कार्यप्रणाली के लिए नई और मौजूदा दवाओं पर विभिन्न परीक्षणों का विश्लेषण और संचालन करना। वे आमतौर पर सरकार के अधीन काम करते हैं। इस व्यक्ति का कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, इसलिए इस क्षेत्र में उचित ज्ञान का होना बहुत ही आवश्यक है।

Pharmacist-फार्मासिस्टों को एक डिस्पेंसिंग केमिस्ट के रूप में भी जाना जाता है। उनका मुख्य फोकस दवाओं के वितरण पर है। वे दवा के सुरक्षित और प्रभावी उपयोग के लिए भी जिम्मेदार हैं।

Pharmacologist-एक फार्माकोलॉजिस्ट एक व्यक्ति है जो जीवों और यौगिकों के बीच होने वाली रासायनिक प्रक्रियाओं पर शोध और समझने पर ध्यान केंद्रित करता है। एक फार्माकोलॉजिस्ट का मुख्य काम नई दवाओं का निर्माण, विकास और परीक्षण करना है।

Quality Control Chemist-गुणवत्ता नियंत्रण केमिस्ट को QC chemist के रूप में भी जाना जाता है। QC केमिस्ट का प्राथमिक कर्तव्य उद्योग मानकों के अनुसार परीक्षण प्रयोगशाला सामग्री और प्रॉप्स को मापना है।

Conclusion

इस पोस्ट के माध्यम से आज हमने जाना What is Pharmaceutical Technology in Hindi-फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी क्या है और फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी कोर्स करने के क्या फायदे है साथ ही इस  पोस्ट में फार्मास्युटिकल टेक्नोलॉजी की फीस,सिलेबस, टॉप कॉलेज,स्कोप और सैलरी की सारी डिटेल्स को भी हमने अच्छे से जाना।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read