Gravitation और Gravity के बीच क्या अंतर है?

आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे Gravitation और Gravity किसे कहते है और Difference Between Gravitation and Gravity in Hindi की Gravitation और Gravity में क्या अंतर है?

Gravitation और Gravity के बीच क्या अंतर हैं?

Gravitation और Gravity बहुत समान शब्द हैं जिनका उपयोग भौतिकी में किया जाता है। आमतौर पर लोग इन दोनों को एक ही शब्द मान रहे हैं। हालांकि ये दोनों सुनने में एक जैसे लग रहे हैं लेकिन फिर भी Gravitation और Gravity में अंतर है।

 Gravitation दो पिंडों के बीच कार्य करने वाला बल है। दूसरी ओर gravity एक वस्तु और बहुत बड़ी वस्तु पृथ्वी के बीच होने वाला बल है। Gravitation यह भी दर्शाता है कि यह बल दोनों वस्तुओं के द्रव्यमान के उत्पाद के सीधे आनुपातिक है। और, यह भी उनके बीच की दूरी के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती होता है।

आमतौर पर गुरुत्वाकर्षण को पृथ्वी का प्राकृतिक गुण माना जाता है, जिसके कारण वस्तुएँ पृथ्वी की ओर आकर्षित होती हैं। Gravitation और Gravity में कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम Difference टेबल के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम Gravitation और Gravity किसे कहते है इसको और अच्छे से समझ लेते है।

What is Gravitation in Hindi-Gravitation क्या होता है?

गुरुत्वाकर्षण ब्रह्मांड में किन्हीं दो पिंडों के बीच आकर्षण बल है। हमारे ब्रह्मांड में, प्रत्येक वस्तु एक निश्चित मात्रा में बल के साथ एक दूसरे को आकर्षित करती है। लेकिन इस बल के बहुत कमजोर स्वभाव के कारण, आमतौर पर हम इसे महसूस भी नहीं कर पाते हैं।

लेकिन, गुरुत्वाकर्षण की सीमा को अनंत माना जाता है। इसका पहला अवलोकन प्रसिद्ध वैज्ञानिक सर आइजैक न्यूटन ने किया था। उन्होंने अपना अत्यंत महत्वपूर्ण न्यूटन का गुरुत्वाकर्षण का नियम वर्ष 1680 में दिया था। दरअसल, यह गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी के साथ वस्तुओं के आकर्षण के कारण मौजूद है।

What is Gravity in Hindi-Gravity क्या होता है?

प्रत्येक वस्तु जिसका कुछ द्रव्यमान होता है, किसी न किसी द्रव्यमान वाली प्रत्येक दूसरी वस्तु पर गुरुत्वाकर्षण बल लगाता है। यह बल और इसकी शक्ति विचाराधीन वस्तुओं के द्रव्यमान पर निर्भर करती है। गुरुत्वाकर्षण ग्रहों को सूर्य के चारों ओर अपनी कक्षा में गतिमान रखने में मदद करता है।

इसलिए, हम कह सकते हैं कि गुरुत्वाकर्षण एक बल है जो किसी पिंड को पृथ्वी के केंद्र की ओर आकर्षित करता है। यह एक सार्वभौमिक रूप से स्वीकृत तथ्य है कि गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी पर जीवन को बनाए रखने में प्रमुख भूमिका निभाता है।

यह इस तथ्य के कारण है कि पृथ्वी और सूर्य के बीच गुरुत्वाकर्षण खिंचाव, वायुमंडल हमारी पृथ्वी पर बना रहता है। इसलिए, हवा के पीछे यही कारण है कि हमें अपने अस्तित्व के लिए सांस लेने की जरूरत है। इतना ही नहीं, यह हमें सूरज से सुरक्षित दूरी पर रहने में भी मदद करता है।

Difference Between Gravitation and Gravity in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Gravitation और Gravity  किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Gravitation और Gravity के बीच क्या अंतर है इसके बारे में अच्छे से पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Gravitation और Gravity क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई कन्फ़्युशन है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

Parameter Gravitation Gravity
Nature of force यह एक आकर्षक बल या प्रतिकारक बल भी हो सकता है। यह हमेशा एक प्रकार की आकर्षक शक्ति होती है।
Universal force इसे सार्वभौमिक शक्ति के रूप में माना जाता है। इसे सार्वभौमिक शक्ति के रूप में नहीं माना जाता है।
Direction इस गुरुत्वाकर्षण बल की दिशा द्रव्यमान से रेडियल दिशा के अनुदिश है। इस बल की दिशा पृथ्वी के केंद्र और शरीर के केंद्र को मिलाने वाली रेखा के अनुदिश होती है। यह हमेशा पृथ्वी के केंद्र की ओर कार्य कर रहा है।
Effect of force यह बहुत ही कमजोर किस्म का बल है। यह एक मजबूत प्रकार की शक्ति है।
Vector यह बल एक सदिश भौतिक राशि है। गुरुत्वाकर्षण बल का अपना सदिश क्षेत्र होता है।
Need for mass इसे दो द्रव्यमान वाली वस्तुओं की आवश्यकता होती है इसे केवल एक द्रव्यमान की आवश्यकता है।
Zero force effect जब पिंडों के बीच की दूरी अनंत होगी तो बल शून्य होगा। पृथ्वी के केंद्र पर गुरुत्वाकर्षण बल शून्य होगा।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना की Gravitation और Gravity किसे कहते है और Difference Between Gravitation and Gravity in Hindi की Gravitation और Gravity में क्या अंतर है।

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
नमस्कार दोस्तों, मै रवि गिरी Hindi Tech Academy का संस्थापक हूँ, मुझे पढ़ने और लिखने का काफी शौख है और इसीलिए मैंने इस ब्लॉग को बनाया है ताकि हर रोज एक नयी चीज़ के बारे में अपने ब्लॉग पर लिख कर आपके समक्ष रख सकू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read