What is HTML in Hindi-HTML क्या है?

आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की What is HTML in Hindi-HTML क्या है? अगर आप Computer Science के Student हो तो HTML के बारे में ज़रूर सुना होगा।

इंटरनेट के द्वारा जो भी हम डेटा एक्सेस करते है वह Web Document के रूप में होता है और यह किसी न किसी Web Server पर होते है जहा से इन्हे कोई भी इन्हे वेबसाइट के माध्यम से एक्सेस कर सकता हैं।

What is HTML in Hindi

HTML के द्वारा Users अपने वेब पेज और एप्लिकेशन के लिए सेक्शन, पैराग्राफ, हेडिंग, लिंक और ब्लॉकक्वाट्स को बना सकते हैं।

Web Page बनाने के लिए HTML काफी पॉपुलर है चलो अब What is HTML in Hindi-HTML क्या है? इसके बारे में अच्छे से डिटेल्स में जानते हैं।

What is HTML in Hindi-HTML क्या है?

HTML काफी पुरानी Programming Language है। जहाँ आज के समय में बहुत सारी Computer Language है जिन्हें Use करके आप Easily Website, Blog बना सकते हो। लेकिन पहले ज्यादातर वेबसाइट HTML से ही बनायीं जाती थी।

HTML का फुल फॉर्म Hyper Text Markup Language होता हैं जिसका इस्तेमाल web pages और  web applications को बनाने के लिए किया जाता हैं। आइए जानते है  कि Hyper Text, Markup Language और web Pages का क्या मतलब होता है।

Hyper Text

Hyper Text का सीधा मतलब है “Text within Text.”  कोई भी Text जिसके पीछे कोई लिंक होती है उसे Hypertext कहते हैं। जब भी आप उस Text पर क्लिक करते है तो वह आपको एक नए वेबपेज पर ले जाता हैं। Hyper Text दो या दो से अधिक वेब पेज (HTML डॉक्यूमेंट) को एक-दूसरे से लिंक करने का एक तरीका है।

Markup language

Markup language एक Computer Language है जिसका उपयोग Text Documents में layout और formatting conventions को लागू करने के लिए किया जाता है। Markup language Text को अधिक interactive और  dynamic बनाती है। यह टेक्स्ट को इमेज, टेबल, लिंक आदि में बदल सकता है।

Web Page

एक वेब पेज एक Documents होता है जो आमतौर पर HTML में लिखा जाता है और एक वेब ब्राउज़र द्वारा ट्रांसलेट किया जाता है। Browser में URL एंटर करके एक वेब पेज की पहचान की जा सकती है। एक वेब पेज static और dynamic दो प्रकार का हो सकता है। केवल HTML की मदद से हम static web Pages बना सकते हैं।

इसलिए HTML एक Markup Language है जिसका उपयोग स्टाइलिंग की मदद से आकर्षक वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है और जो वेब ब्राउज़र पर एक अच्छे फॉर्मेट में दिखता है। एक HTML Documents  कई HTML tag  से बना है और प्रत्येक HTML tag में अलग-अलग content होता है।

Types of HTML Tags in Hindi

HTML tags किसी  web page के  के भीतर छिपे हुए कीवर्ड होते हैं जो यह परिभाषित करते हैं कि आपके वेब ब्राउज़र को सामग्री को कैसे प्रारूपित और प्रदर्शित करना चाहिए। उदाहरण के लिए, <html> opening tag है और </ html> closing tag है।

HTML Programming Language में बहुत सारे Tag होते है सारे टैग के बारे में यहाँ बताना सम्भव नहीं है HTML के कुछ Basic Tags है जिनका इस्तेमाल सबसे ज़्यदा किया जाता है उनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे हैं।

<!DOCTYPE>:  यह document type को डिफाइन करता है और साथ ही यह HTML के Version के बारे में Browser को निर्देश देता है।

<html > : यह Tag Browser को यह बताता है की यह HTML document है। HTML Tag के बीच में Text web document  का वर्णन करता है। यह <! DOCTYPE> को छोड़कर HTML के अन्य सभी तत्वों के लिए एक कंटेनर है।

<head>: इसमें  Documents के Meta Data की Information होती हैं। बॉडी टैग खुलने से पहले इसे बंद कर देना चाहिए।

<title>: जैसा की नाम से ही प्रतीत होता है, इसको HTML page में Title को Add करने के लिए किया जाता हैं जो ब्राउज़र विंडो के शीर्ष पर दिखाई देता है। इसे Head Tag के अंदर रखा जाना चाहिए और इसे तुरंत बंद कर देना चाहिए।

<body> : यह Body के कंटेंट को Describe करता हैं  जो end user को दिखाई देता है। इस टैग में HTML document  की मुख्य सामग्री है।

<h1> : Text between <h1> यह tag  पेज की पहली और Main Heading को Describe करता है।

<p> : Text between <p> यह tag  Webpage के Paragraph को describes  करता हैं।

History of HTML in Hindi-HTML का इतिहास?

Tim Berners-Lee को father of HTML  कहा जाता है। Tim Berners-Lee  ने सन 1980 में HTML Language को Developed किया था और बाद में Lee ने ही 989 में World Wide Web के कांसेप्ट को दुनियाँ के सामने पेश किया आज World Wide Web से ही  Internet  चल रहा हैं।

Tim Berners-Lee की इस उपलब्धि के लिए उन्हें Time Magazine के 20th Century के 100 सबसे Most Important लोगों की लिस्ट में शामिल किया गया था।

वर्तमान समय में HTML के विकास का जिम्मेदारी W3C-World Wide Web Consortium  के पास है. यह संस्था ही अब HTML का ख्याल रखती है।

HTML Versions

जब से HTML को Invented किया गया हैं तब से HTML के बहुत सारे version आ चुके हैं HTML versions  के बारे में संक्षिप्त परिचय नीचे दिया गया है:

HTML 1.0: HTML का पहला Version 1.0 था जिसे HTML Language का Primary Version भी कहा जाता हैं , और इसे  1991 जारी किया गया था।

HTML 2.0:  यह HTML का दूसरा Version हैं जिसे 1995 में Released किया गया था यह website design करने के लिए standard language version था। HTML 2.0 में कुछ extra features थे जैसे की form-based file upload, form elements such as text box, option button आदि।

HTML 3.2: HTML 3.2 version को 1997 में W3C द्वारा published किया गया था। यह HTML Version Table बनाने और form elements के लिए अतिरिक्त विकल्पों के लिए सहायता प्रदान करने में सक्षम था।

यह जटिल गणितीय समीकरणों ( complex mathematical equations) के साथ एक वेब पेज का भी समर्थन कर सकता है। यह जनवरी 1997 तक किसी भी ब्राउज़र के लिए एक आधिकारिक मानक बन गया। आज यह व्यावहारिक रूप से अधिकांश ब्राउज़रों द्वारा समर्थित है।

HTML 4.01: HTML 4.01 version को December 1999 में Released किया गया था और यह HTML language का बहुत ही स्टेबल Version हैं  यह Version वर्तमान में official standard  है और यह स्टाइलशीट (सीएसएस) और विभिन्न मल्टीमीडिया तत्वों की स्क्रिप्टिंग क्षमता के लिए अतिरिक्त समर्थन प्रदान करता है।

HTML5 : HTML5 HyperText Markup language का सबसे Latest Version हैं जिसे January 2008 में Release किया गया था HTML 5 version को W3C (World Wide Web Consortium) और WHATWG( Web Hypertext Application Technology Working Group) ने मिलकर Developed किया था।

Features of HTML in Hindi

Easy and Simple Language- HTML बहुत ही easy और  simple language है इसको आसानी से समझा और Modify किया जा सकता है।

New Format : HTML 5  जो सबसे Latest Version है में कुछ New Format Add किए गये है जैसे Date, Time, Calendar आदि।

Effective Presentation-Html के साथ Effective Presentation बना सकते है क्योंकि इसमें बहुत सारे Formatting Tag है।

Graphics : HTML 5  में Graphics का काफी Use किया गया है। जहाँ SVG (Scalable Vector Graphics) या Canvas का उपयोग कर Vector Graphics बना सकते हैं।

Markup language- यह एक Markup language है इसलिए यह  Text के साथ Web page बनाने के लिए बहुत ही Flexible हैं।

Geo Location : HTML 5  में Website Visit करने वाले Visitors की Geo Location को पता करना कठिन होता है, लेकिन जब से Html 5 Launch हुआ है, इसमें Geo Location को Add किया गया है।

Platform-independent- HTML एक platform-independent प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है क्योकि यह किसी बी प्लेटफार्म जैसे की Windows, Linux, और Macintosh पर Displayed की जा सकती हैं।

Link Adding : Html Programmer को Web pages पर Html Anchor Tag द्वारा Link Add करने की सुविधा देता है, इसलिए यह Browsing में Users के Interest को बढ़ा देता है।

Add Video Or Sound : Html Programmer को Webpage पर Graphic, Video और Sound Add करने के लिए सुविधा देता है, जो इसे और ज्यादा Interesting बनाता है।

Conclusion

आज की इस पोस्ट में हमने सीखा की What is HTML in Hindi-HTML क्या है? Types of HTML Tags in Hindi History of HTML in Hindi-HTML का इतिहास? और HTML Versions Features of HTML in Hindi

मुझे उम्मीद है की आपको इस पोस्ट के माद्यम से यह जानने में काफी मदद मिली होगी की What is HTML in Hindi-HTML क्या है?

जरूर पढ़े-

C Language क्या है?

History of the C language in hindi- C language का इतिहास?

Why to Learn C Programming -C प्रोग्रामिंग क्यों सीखें?

How to Install C language i hindi-C language को कैसे Install करें?

What are the Features of C Language in hindi-C Language के फीचर्स क्या हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here