Difference Between Hub and Switch in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Hub and Switch in Hindi में जानेंगे की Hub और Switch के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Hub and Switch in HindiDifference Between Hub and Switch in Hindi

Hub और Switch दोनों ही नेटवर्किंग डिवाइस है समान और भौतिक रूप से एक स्टार टोपोलॉजी के रूप में उपयोग किए जाते हैं। Hub और Switch दोनों के कार्य करने का उद्देश्य लगभग एक जैसा है लेकिन फिर भी हब और स्विच के बीच कई अंतर हैं।

अगर हब और स्विच के बीच के मुख्य अंतर की बात की जाये तो हब बस की तरह काम करता है जहां एक ही सिग्नल्स को सभी कनेक्शनों को ट्रांसमिट किया जाता है।

दूसरी ओर, स्विच लेबल पर कम्युनिकेशन  प्रदान कर सकता है। नतीजतन, हब के सभी पोर्ट एक ही collision domain  से संबंधित हैं, जबकि स्विच में पोर्ट अलग-अलग collision domain पर संचालित होते हैं।

इसके आलावा भी हब और स्विच में कुछ महत्वपूर्ण अंतर पाए जाते है जिनको हम Difference Table के माध्यम से नीचे समझेंगे लेकिन उससे पहले हम Hub और Switch किसे कहते है इसको थोड़ा और अच्छे से समझ लेते है।

नेटवर्क हब किसे कहते है?

हब एक नेटवर्किंग डिवाइस है जिसका उपयोग नेटवर्क में कई उपकरणों को एक साथ जोड़ने के लिए किया जाता है। आपतौर पर एक हब का इस्तेमाल लोकल एरिया नेटवर्क में  होता है।

हब सिग्नल को प्राप्त करने के लिए प्रत्येक पोर्ट (एक पोर्ट को छोड़कर) को सिग्नल प्रसारित करने के लिए उपयोग किया जाता है। हब OSI Model की फिजिकल लेयर पर कार्य करता है। हब में ट्रांसमिट होने वाले पैकेट में फ़िल्टरिंग उपलब्ध नहीं है। हब दो प्रकार का होता है: एक्टिव हब, पैसिव हब।

नेटवर्क स्विच किसे कहते है?

स्विच एक नेटवर्किंग डिवाइस है मुख्य रूप से इसका इस्तेमाल लोकल एरिया नेटवर्क में बहुत सारी नेटवर्किंग डिवाइस को आपस में कनेक्ट करने के लिए किया जाता है। नेटवर्क स्विच OSI Model की डेटा लिंक लेयर पर काम करते है अब नेटवर्क लेयर पर काम करने वाले भी स्विच में आज के समय में उपलब्ध है।

स्विच में पैकेट फ़िल्टरिंग का फीचर उपलब्ध है। स्विच नेटवर्क में डिवाइस कनेक्ट करते हैं और नेटवर्क पर डेटा पैकेट या डेटा फ़्रेम भेजने, प्राप्त करने या अग्रेषित करने के लिए पैकेट स्विचिंग का उपयोग करते हैं।

एक स्विच में हब की अपेक्षा कई पोर्ट होते हैं  जिनसे नेटवर्क में डिवाइस को कनेक्ट किया जाता है। जब नेटवर्क स्विच के किसी भी पोर्ट पर डेटा फ़्रेम आता है, तो वह सबसे पहले डेस्टिनेशन एड्रेस की जाँच करता है उसके बाद उसको फोरवोर्ड करता है। स्विच  यूनिकैस्ट, मल्टीकास्ट और ब्रॉडकास्ट को सपोर्ट करता है।

Hub और Switch में क्या अंतर है?

अभी तक ऊपर हमने जाना की Hub और Switch किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Hub और Switch के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Hub और Switch क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई Confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

S.NO HUB SWITCH
1. हब फिजिकल लेयर पर काम करता है। जबकि स्विच डेटा लिंक लेयर पर काम करता है।
2. हब के ब्रॉडकास्ट ट्रांसमिशन का प्रकार है। जबकि स्विच एक यूनिकैस्ट, मल्टिकास्ट और ब्रॉडकास्ट टाइप ट्रांसमिशन है।
3. हब में अधिकतम 4 पोर्ट होते हैं। जबकि स्विच में 24 से 48 पोर्ट हो सकते हैं।
4. हब में, केवल एक collision domain है। स्विच में  अलग-अलग पोर्ट का अपना Collision Domain होता है।
5. हब एक हाफ डुप्लेक्स ट्रांसमिशन मोड है। जबकि स्विच एक Full Duplex ट्रांसमिशन मोड है।
6. हब में, पैकेट फ़िल्टरिंग प्रदान नहीं किया गया है। स्विच में  पैकेट फ़िल्टरिंग प्रदान किया जाता है।
7. हब को रिपीटर के रूप में उपयोग नहीं किया जा सकता है। जबकि स्विच को रिपीटर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।
8. हब एक इंटेलीजेंट डिवाइस नहीं है, इसलिए यह तुलनात्मक रूप से सस्ती है। जबकि स्विच एक इंटेलीजेंट डिवाइस है इसलिए यह महंगा है।
9. हब एक पुरानी डिवाइस है और आमतौर पर अब इसका उपयोग नहीं किया जाता है। स्विच बहुत परिष्कृत उपकरण है और व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।
10. हब से जुड़ी प्रणालियों की हैकिंग जटिल है। स्विच से जुड़े सिस्टम को हैक करना थोड़ा आसान है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना Difference Between Hub and Switch in Hindi की Hub और Switch के बीच में क्या अंतर होता हैं? साथ में हमने Hub और Switch किसे कहते है इसको भी अच्छे से समझा।

हब और स्विच दोनों ही नेटवर्किंग डिवाइस हैं जो नेटवर्क में एक एक डिवाइस को दूसरे डिवाइस को कम्युनिकेशन करने के लिए कई डिवाइस को जोड़ने के लिए एक तंत्र प्रदान करते हैं। हालाँकि, हब फिजिकल लेयर पर काम करता है जबकि स्विच डेटा लिंक परत पर काम करता है।

Related Differences:

Difference Between Simplex, Half duplex and Full Duplex Transmission Modes in Hindi

Difference Between LAN and VLAN in Hindi

Difference Between Router and Switch in Hindi

Difference Between Bridge and Switch in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here