Difference Between Encryption and Decryption in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Encryption and Decryption in Hindi में जानेंगे की Encryption और Decryption के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Encryption and Decryption in HindiDifference Between Encryption and Decryption in Hindi

इंटरनेट पर हम हर रोज अपने पर्सनल डेटा और इनफार्मेशन को सेंड और रिसीव करते है। हमारे उस डेटा को कोई unauthorized पर्सन एक्सेस करके उसके साथ छेड़छाड़ न कर सके इसके लिए Encryption और  Decryption का मेथड इस्तेमाल किया जाता है।

इनफोरमेशन का एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन एक ऐसी बिधि है जिसमे डाटा को इस प्रकार Encrypt और Decrypt किया जाता है जिसे केवल सेन्डर और रिसीवर ही रीड कर सकते है और इस तरह आपकी पर्सनल इनफार्मेशन को कोई तीसरा पर्सन एक्सेस नहीं कर सकता।

Encryption और Decryption के बीच मुख्य अंतर यह है की Encryption किसी मैसेज को इस प्रकार से कन्वर्ट कर दिया जाता है किस उसे कोई रीड नहीं कर सकता, जबकि Decryption एक प्रकार से Encrypted data को फिर से उसे ओरिजिनल मैसेज में डिक्रिप्ट करता है ताकि उसे रीड किया जा सके।

इसके आलावा भी Encryption और Decryption के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते है जिनको हम  Difference Table के माध्यम से नीचे जानेंगे लेकिन उससे पहले हम Encryption और Decryption किसे कहते है इसको अच्छे से जान लेते है।

What is Encryption in Hindi-Encryption किसे कहते है?

Encryption नेटवर्क में कम्युनिकेशन के दौरान Users  की संवेदनशील और निजी जानकारी जैसे की passwords, identity information, credit card details को सुरक्षित रखने के लिए एक Technique है। दूसरे शब्दों में कहे तो Encryption एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें एक सेन्डर किसी मैसेज को Encrypt करके उसको दूसरे रूप में परिवर्तित करता है और उसके बाद उस Encrypted मैसेज को नेटवर्क पर सेन्डर के पास भेजता है।

इस प्रक्रिया को करने के लिए सेन्डर को Encryption Algorithm और Key की आवश्यकता होती है ताकि वह किसी Plaintext (original message) को Ciphertext (encrypted message) मैसेज में बदल सके।

Plaintext (original message) वह डेटा है जिसे ट्रांसमिशन के दौरान प्रोटेक्ट करने की आवश्यकता होती है। Ciphertext ओरिजिनल मैसेज का Encrypted रूप होता है Conventional Encryption Methods में Encryption और Decryption के लिए एक ही Key का इस्तेमाल किया जाता है।  Conventional methods को दो भागो में डिवाइड किया गया है Character level encryption और Bit level Encryption.

What is Decryption in Hindi-Decryption किसे कहते है?

Decryption एक ऐसी प्रक्रिया है जो Encrypted Data को उसके ओरिजिनल फॉर्मेट में कन्वर्ट करता है। दूसरे शब्दों में कहे तो यह एन्क्रिप्टेड डेटा को एक ऐसे रूप में परिवर्तित करने की एक प्रक्रिया है जो मानव या कंप्यूटर द्वारा पढ़ा और समझा जा सके  है। Decryption की प्रक्रिया मैसेज रिसीवर के मशीन पर होती है।

Ciphertext को original plaintext में बदलने के लिए रिसीवर एक डिक्रिप्शन एल्गोरिथ्म और Key का उपयोग करता है।  Encryption और Decryption के लिए उपयोग की जाने वाली Key क्रिप्टोसिस्टम के प्रकार के आधार पर समान और असमान हो सकती है।

Encryption और Decryption का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

  • Encryption और Decryption  का उपयोग करने के लिए महत्वपूर्ण कारण हैं जो की इस प्रकार है।
  • यह हमारे Confidential Data जैसे की User ID और Passwords को सुरक्षित रखता है।
  • यह हमारी निजी जानकारी की गोपनीयता प्रदान करता है
  • आपको यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि Information या फ़ाइल को परिवर्तित नहीं किया गया है
  • इंटरनेट पर होने वाले कम्युनिकेशन के लिए सहायक है जहां एक हैकर आसानी से आपके डेटा को एक्सेस नहीं कर सकता।
  • यह इसलिए भी आवश्यक है क्योंकि यह आपको डेटा को सुरक्षित रखने में मदद करता है जिसे आप नहीं चाहते कि कोई और उसे एक्सेस करे।

Difference Between Encryption and Decryption in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Encryption और Decryption किसे कहते है? अगर आपने ऊपर दी गयी सारी बाते ध्यान से पढ़ी है तो आपको Encryption और Decryption के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा ।

अगर आपको अब भी Encryption और Decryption में कोई confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

S.NO ENCRYPTION DECRYPTION
1. Encryption सामान्य मैसेज को Meaningless मैसेज में बदलने की प्रक्रिया है। जबकि डिक्रिप्शन Meaningless Message को उसके मूल रूप में परिवर्तित करने की प्रक्रिया है।
2. एन्क्रिप्शन वह प्रक्रिया है जो इनफार्मेशन को सेंड करते समय होती है। Decryption वह प्रक्रिया है जो इनफार्मेशन को रिसीव करते समय होती है।
3. Encryption का मुख्य काम Plain text को  cipher text में बदलना है। Decryption का मुख्य काम cipher text  को Plain text में बदलना है।
4. किसी भी मैसेज को Secret या Public Key के साथ एन्क्रिप्ट किया जा सकता है। एन्क्रिप्टेड संदेश को Secret या Public Key के के साथ डिक्रिप्ट किया जा सकता है।
5. एन्क्रिप्शन प्रक्रिया में, सेन्डर डेटा को एन्क्रिप्ट करने के बाद रिसीवर को भेजता है। जबकि डिक्रिप्शन प्रक्रिया में, रिसीवर Information (Cipher text) को प्राप्त करता है और उसे Plain Text में कन्वर्ट करता है।

Conclusion

इस पोस्ट में हमने Difference Between Encryption and Decryption in Hindi की Encryption और Decryption के बीच में क्या अंतर होता हैं इसके बारे में जाना और साथ ही साथ Encryption और Decryption को भी अच्छे से समझा।

Related Differences

Difference Between SSL and TLS in Hindi

Difference Between Firewall and Antivirus in Hindi

Difference Between Symmetric and Asymmetric Encryption in Hindi

Difference Between Telnet and SSH in Hindi

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
Hi Friends, I'm Ravi Giri Admin of HindiTechAcademy दोस्तों मुझे कंप्यूटर, मोबाइल और इन्टरनेट टेक्नोलॉजी में काफी रूचि है, और इसी से संबधित हर रोज़ एक नयी चीज़ अपने ब्लॉग पर पोस्ट करता रहता हूँ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read