Kernel और Operating System में क्या अंतर है?

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Kernel and Operating System in Hindi में जानेंगे की Kernel और Operating System में क्या अंतर है?

Kernel और Operating System में क्या अंतर है?

Kernel और Operating System में क्या अंतर है?

हम सब कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम  के बारे में तो जानते ही है क्योकि ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर सिस्टम प्रोग्राम है जो कंप्यूटर पर कंप्यूटर को इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ता को एक इंटरफ़ेस प्रदान करता है ताकि वे आसानी से कंप्यूटर पर काम कर सकें।

Kernel भी एक सिस्टम प्रोग्राम और ऑपरेटिंग सिस्टम का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है जो कंप्यूटर पर चलने वाले सभी प्रोग्राम को नियंत्रित करता है। Kernel मूल रूप से सिस्टम के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच एक पुल की तरह काम करता है।

अगर Kernel और Operating System के मुख्य अंतर की बात करें तो मूल अंतर यह है कि कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम डेटा और सॉफ़्टवेयर का पैकेज है जो सिस्टम के संसाधनों का प्रबंधन करता है जबकि Kernel ऑपरेटिंग सिस्टम का एक महत्वपूर्ण प्रोग्राम है।

इसके आलावा Kernel और Operating System  में कुछ और मुख्य अंतर होते है जिनको Difference Table के माध्यम से हम  नीचे जानेंगे लेकिन उससे पहले हम Kernel और Operating System  किसे कहते है इसको और अच्छे से  समझ लेते है।

What is Kernel in Hindi-कर्नेल क्या होता है?

Kernel ऑपरेटिंग सिस्टम का एक महत्वपूर्ण प्रोग्राम है। यह ऑपरेटिंग सिस्टम का पहला प्रोग्राम है जिसे सिस्टम के काम को शुरू करने के लिए मुख्य मेमोरी में लोड किया जाता है और सिस्टम बंद होने तक Kernel मुख्य मेमोरी में रहता है।

अगर Kernel के कार्य की बात करे तो कर्नेल मूल रूप से उपयोगकर्ता द्वारा एंटर किए गए Commands का ट्रांसलेट करता है ताकि कंप्यूटर को यह पता चले की उपयोगकर्ता ने क्या अनुरोध किया है।

कंप्यूटर में Kernel एप्लीकेशन सॉफ़्टवेयर और सिस्टम के हार्डवेयर के बीच एक ब्रिज का काम करता है। Kernel सीधे कंप्यूटर के हार्डवेयर के साथ कम्युनिकेशन करता है और यह बताता है कि एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर ने क्या अनुरोध किया है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम Kernel के बिना चलने में असमर्थ है क्योंकि यह सिस्टम के काम करने के लिए महत्वपूर्ण प्रोग्राम है।

एक कंप्यूटर में Kernel की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है यह  memory managementprocess managementtask management और  disk management जैसे Task को परफॉर्म करता है। कंप्यूटर में कर्नेल को मोनोलिथिक कर्नेल और माइक्रो कर्नेल के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

What is Operating System in Hindi-ऑपरेटिंग सिस्टम किसे कहते है?

एक ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) बहुत सारे सॉफ्टवेयर का एक कलेक्शन है जो कंप्यूटर के हार्डवेयर का को मैनेज करता है और प्रोग्राम के लिए सेवाएं प्रदान करता है।  दूसरे शब्दों में कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो यूजर और सिस्टम हार्डवेयर के बीच इंटरफेस का काम करता है।

कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से ही उपयोगकर्ता द्वारा दर्ज किए गए कमांड के परिणाम को देखने देता है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना सिस्टम चलाना असंभव है मतलब बिना OS के हम कंप्यूटर की कल्पना नहीं कर सकते।

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम प्रोग्राम है जो कंप्यूटर पर हर समय चलता रहता है जब तक की उसे बंद न किया जाए। ऑपरेटिंग सिस्टम पहला प्रोग्राम है जो कंप्यूटर के बूट होने पर मुख्य मेमोरी में लोड होता है। एक बार जब ऑपरेटिंग सिस्टम मुख्य मेमोरी में लोड हो जाता है तो उसके बाद यह एप्लिकेशन प्रोग्राम के Execution के लिए तैयार हो जाता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम को single और multiuser ऑपरेटिंग सिस्टम, मल्टीप्रोसेसर ऑपरेटिंग सिस्टम, डिस्ट्रिब्यूटेड ऑपरेटिंग सिस्टम, रियल-टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

Microsoft Windows, Apple macOS, Linux, Android और Apple’s iOS यह ऑपरेटिंग सिस्टम के  कुछ कॉमन उदाहरण जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाते है।

ऑपरेटिंग सिस्टम में Kernel नामक एक महत्वपूर्ण प्रोग्राम होता है महत्वपूर्ण इसलिए क्योकि ऑपरेटिंग सिस्टम कर्नेल के बिना काम नहीं कर सकता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ महत्वपूर्ण कार्य निम्नलिखित हैं।

  • Memory Management
  • Processor Management
  • Device Management
  • File Management
  • Security
  • Control over system performance
  • Job accounting
  • Error detecting aids
  • Coordination between other software and users

Kernel और Operating System में क्या अंतर है?

अभी तक ऊपर हमने जाना की Kernel और Operating System किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Kernel और Operating System के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Kernel और Operating System  क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई Confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

BASIS FOR COMPARISON KERNEL OPERATING SYSTEM
Basic Kernel ऑपरेटिंग सिस्टम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। ऑपरेटिंग सिस्टम एक सिस्टम प्रोग्राम है।
Interface Kernel कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बीच का एक इंटरफेस है। ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर के यूजर और हार्डवेयर के बीच का एक इंटरफेस है।
Type Monolithic kernels और  Microkernels. Single और Multiprogramming batch system, Distributed operating system, Realtime operating system.
Purpose Kernel memory management, process management, task management, disk management. Kernel की जिम्मेदारियों के अलावा, ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर की protection और security के लिए जिम्मेदार है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना Difference Between Kernel and Operating System in Hindi  की Kernel और Operating System में क्या अंतर है इसके साथ में Kernel और Operating System किसे कहते है इसके बारे में भी हमने अच्छे से जाना।

एक ऑपरेटिंग सिस्टम एक कंप्यूटर के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर है और ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना सिस्टम को चलाना असंभव है जबकि Kernel ऑपरेटिंग सिस्टम का ही एक महत्वपूर्ण प्रोग्राम है और Kernel के बिना ऑपरेटिंग सिस्टम काम नहीं करेगा।

Related Differences

Multiprocessing और Multithreading में क्या अंतर है?

Virtual और Cache Memory में क्या अंतर है?

Buffering और Caching में क्या अंतर है?

Internal और External fragmentation में क्या अंतर है?

System Software और Application Software में क्या अंतर है?

Ravi Girihttps://hinditechacademy.com/
Hi Friends, I'm Ravi Giri Admin of HindiTechAcademy दोस्तों मुझे कंप्यूटर, मोबाइल और इन्टरनेट टेक्नोलॉजी में काफी रूचि है, और इसी से संबधित हर रोज़ एक नयी चीज़ अपने ब्लॉग पर पोस्ट करता रहता हूँ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,566FansLike
823FollowersFollow

Must Read