Register और Memory में क्या अंतर है?

इस पोस्ट में हम Difference Between Register and Memory in Hindi में जानेंगे की Register और Memory में क्या अंतर है?

Register और Memory में क्या अंतर है?Register और Memory में क्या अंतर है?

रजिस्टर और मेमोरी में स्टोर होने वाले डाटा को कंप्यूटर के प्रोसेसर द्वारा सीधे एक्सेस किया जाता है जो सीपीयू की प्रोसेसिंग गति को भी बढ़ाता है। सीपीयू की प्रोसेसिंग स्पीड को रजिस्टर के बिट्स की संख्या बढ़ाकर या सीपीयू में फिजिकल रजिस्टर की संख्या बढ़ाकर भी किया जा सकता है।

मेमोरी के मामले में भी ऐसा ही है की मेमोरी कैपेसिटी को बढाकर एक सीपीयू की प्रोसेसिंग स्पीड को बढ़ा सकते है। मेमोरी को सामान्य रूप से कंप्यूटर की प्राथमिक मेमोरी में संदर्भित किया जाता है।

रजिस्टर और मेमोरी में बहुत सारी समानताओं के बावजूद रजिस्टर और मेमोरी एक दूसरे से भिन्न है अगर दोनों के बीच के मुख्य अंतर की बात करे तो यह है कि एक रजिस्टर सिर्फ उस डेटा को स्टोर करता है जो वर्तमान में सीपीयू प्रोसेसिंग कर रहा है जबकि मेमोरी में वह प्रोग्राम इंस्ट्रक्शन और डेटा स्टोर होता है जिसे प्रोग्राम को क्रियान्वित करने की आवश्यकता होती है।

इसके आलावा भी एक मेमोरी और रजिस्टर में काफी अंतर होते है जिनको हम नीचे दिए गए तुलना चार्ट की मदद से अच्छे से जानेंगे लेकिन उससे पहले हम Register और Memory किसे कहते है इसको थोड़ा और अच्छे से समझ लेते है।

What is Register in Hindi-रजिस्टर किसे कहते हैं?

एक Register सबसे छोटा डेटा होल्डिंग एलिमेंट हैं जो प्रोसेसर में ही निर्मित होते हैं और इसके डेटा को सीधे प्रोसेसर द्वारा एक्सेस किया जाता है। इसमें एक निर्देश, स्टोरेज एड्रेस या किसी भी तरह का डेटा हो सकता है। प्रोसेसर मुख्य मेमोरी की तुलना में रजिस्टरों से बहुत ही हाई स्पीड में डेटा को एक्सेस करता है।

रजिस्टर को बिट्स में मापा जाता है जैसे प्रोसेसर में 16-बिट, 32-बिट या 64-बिट रजिस्टर हो सकते हैं। रजिस्टर बिट्स की संख्या सीपीयू की गति और शक्ति को निर्दिष्ट करती है।

उदाहरण के लिए, एक सीपीयू जिसमें 32-बिट रजिस्टर है, एक बार में 32-बिट निर्देशों तक पहुंच सकता है। जिस CPU में 64-बिट रजिस्टर है, वह 64-बिट निर्देशों को निष्पादित कर सकता है। इसलिए जिस प्रोसेसर में रजिस्टर की अधिक संख्या उनकी स्पीड और पावर अधिक होती है।

रजिस्टर के कुछ उदाहरण Accumulator register, Program counter, Instruction register और  Address register हैं।

What is Memory in Hindi-मेमोरी किसे कहते है?

कंप्यूटर की Memory मानव के ब्रेन के समान होती है। कप्यूटर में इस्तेमाल होने वाली मेमोरी एक हार्डवेयर डिवाइस है जिसका इस्तेमाल  प्रोग्राम, निर्देश और डेटा को स्टोर करने के लिए किया जाता है। कंप्यूटर में मेमोरी दो तरह की होती है एक इंटरनल और दूसरी एक्सटर्नल।

एक कंप्यूटर की इंटरनल मेमोरी RAM और ROM होती है जिसे प्राइमरी मेमोरी भी कहा जाता है और अगर कंप्यूटर की एक्सटर्नल मेमोरी की बात करे तो वह Hard Disk होती है और यह कंप्यूटर की सेकेंडरी मेमोरी होती है।

कंप्यूटर की प्राइमरी मेमोरी यानि की RAM में इनफार्मेशन Temporary सेव होती है जबकि सेकेंडरी मेमोरी मतलब हार्ड डिस्क में हमेशा के लिए इनफार्मेशन को सेव किया जाता है।

जब हम कंप्यूटर पर किसी नयी फाइल पर काम करते है तो वह डाटा उसकी प्राइमरी मेमोरी RAM पर होता होऔर एक बार जब आप जब आप उस फाइल को सेव करते हैं तो वह कंप्यूटर की सेंकडरी मेमोरी (Hard Disk) में स्थानांतरित कर दिया जाता है

आज के समय में प्राथमिक मेमोरी या रैम 1 जीबी से 16 जीबी तक हो सकती है। दूसरी ओर सेंकडरी स्टोरेज मतलब हार्ड डिस्क GB से लेकर लेकर टेराबाइट्स तक उपलब्ध है।

रजिस्टर और मेमोरी मेमोरी में क्या अंतर है?

अभी तक ऊपर हमने जाना की Register और Memory किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Register और Memory के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Register और Memory क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई Confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

S.NO. REGISTER MEMORY
1. Register ने उन ऑपरेंड्स या निर्देश को होल्ड करता है जो वर्तमान समय में सीपीयू द्वारा प्रोसेस हो रहे होते है। मेमोरी उन निर्देशों और डेटा को रखती है, जो वर्तमान में सीपीयू में प्रोग्राम को निष्पादित कर रहा है।
2. Register  में 32-बिट्स से लेकर 64-बिट्स तक के डेटा की थोड़ी मात्रा होती है। कंप्यूटर की मेमोरी कुछ GB से लेकर TB तक हो सकती है।
3. CPU बहुत ही फ़ास्ट से रजिस्टर कंटेंट पर काम कर सकता है। सीपीयू रजिस्टर की तुलना में धीमी दर से मेमोरी एक्सेस करता है।
4. Accumulator register, Program counter, Instruction register, Address register यह कुछ रजिस्टर के प्रकार है। मेमोरी के प्रकार RAM, ROM आदि हैं।
5. Register को कंट्रोल किया जा सकता है आप उनसे डाटा को स्टोर और रिमूव कर सकते है। मेमोरी को लगभग कंट्रोल  नहीं किया जा सकता है।
6. मेमोरी की तुलना में रजिस्टर काफी फ़ास्ट होते हैं। रजिस्टरों की तुलना में RAM बहुत धीमी है।

Conclusion

आज की इस पोस्ट में हमने जाना Difference Between Register and Memory in Hindi की Register और Memory में क्या अंतर है और इसके साथ में ही रजिस्टर और मेमोरी किसे कहते है इसके बारे में भी हमने अच्छे से जाना।

आम तौर पर रजिस्टर memory hierarchy के टॉप पर रहता है। यह सबसे छोटा और तेजी से सुलभ स्टोरेज एलिमेंट्स है। दूसरी ओर, मेमोरी को आम तौर पर मुख्य मेमोरी के रूप में संदर्भित किया जाता है जो रजिस्टर से बड़ी होती है और इसका सीपीयू एक्सेस रजिस्टर की तुलना में धीमा होता है लेकिन यह सेकेंडरी स्टोरेज की तुलना में तेजी से एक्सेस होता है।

Related Differences:

RAM और ROM Memory में क्या अंतर है?

Supercomputer और Mainframe Computer में क्या अंतर है?

Primary और Secondary Memory में क्या अंतर है?

Loosely Coupled और Tightly Coupled Multiprocessor System में क्या अंतर है?

Magnetic Tape और Magnetic Disk में क्या अंतर है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here