Difference Between Star and Ring Topology in Hindi

आज के इस पोस्ट में हम Difference Between Star and Ring Topology in Hindi में जानेंगे की Star और Ring Topology के बीच में क्या अंतर होता हैं?

Difference Between Star and Ring Topology in HindiDifference Between Star and Ring Topology in Hindi

नेटवर्क टोपोलॉजी एक नेटवर्क में  डिवाइस को अरेंजमेंट करने की व्यवस्था है दूसरे शब्दों में कहे तो नेटवर्क टोपोलॉजी का उपयोग विभिन्न प्रकार के दूरसंचार नेटवर्क की व्यवस्था को परिभाषित करने या वर्णन करने के लिए किया जा सकता है, एक टोपोलॉजी नेटवर्क के Physical और Logical दोनों पहलुओं को परिभाषित कर सकती है।

Physical और Logical टोपोलॉजी दोनों एक ही नेटवर्क में समान या अलग हो सकते हैं। नेटवर्क टोपोलॉजी विभिन्न प्रकार की होती है लेकिन आज की इस पोस्ट में हम Star और  Ring Topology के बीच के अंतर को समझेंगे

अगर Star और  Ring Topology के बीच के मुख्य अंतर की बात की जाये तो स्टार टोपोलॉजी प्राथमिक-द्वितीयक प्रकार के कनेक्शन के लिए उपयुक्त है जबकि पीयर-टू-पीयर कनेक्शन के लिए रिंग टोपोलॉजी अधिक सुविधाजनक है।

इसके आलावा भी Star और  Ring Topology में कुछ महत्वपूर्ण अंतरपाए जाते है जिनको हम Difference Table के माध्यम से नीचे जानेंगे लेकिन उससे पहले हम Star और  Ring Topology किसे कहते है इसको और अच्छे से समझ लेते है।

What is Star Topology in Hindi-स्टार टोपोलॉजी किसे कहते है?

Star Topology नेटवर्क में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली टोपोलॉजी है। इस टोपोलॉजी में प्रत्येक डिवाइस किसी एक सेंट्रल डिवाइस से कनेक्ट होती है वह सेंट्रल डिवाइस एक Hub, Switch या कोई कंप्यूटर हो सकता है।

सेंट्रल नेटवर्क डिवाइस एक सर्वर की तरह काम करता है और उससे कनेक्टेड अन्य डिवाइस क्लाइंट्स की तरह। इस टोपोलॉजी में कंप्यूटर को कनेक्ट करने के लिए Coaxial केबल या RJ-45 केबल का उपयोग किया जाता है।

Advantages of star topology

Efficient troubleshooting: स्टार टोपोलॉजी में किसी भी समस्या निवारण काफी काफी कुशल है। एक स्टार टोपोलॉजी में, सभी डिवाइस एक सेंट्रलाइज्ड डिवाइस  नेटवर्क से जुड़े होते हैं। इसलिए, नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर को समस्या के निवारण के लिए बस उसी सेंट्रलाइज्ड डिवाइस  को चेक करना पड़ता है।

Network control: स्टार टोपोलॉजी में नेटवर्क पर कण्ट्रोल करना भी काफी आसान है स्टार टोपोलॉजी में किए गए किसी भी परिवर्तन को स्वचालित रूप से समायोजित किया जाता है।

Limited failure: चूंकि प्रत्येक कंप्यूटर अपनी केबल के साथ केंद्रीय हब से कनेक्ट होते है, इसलिए  किसी एक कंप्यूटर के ख़राब होने से बाकी नेटवर्क को प्रभावित नहीं करेगी।

Familiar technology: स्टार टोपोलॉजी एक परिचित तकनीक है क्योंकि इसके उपकरण लागत प्रभावी हैं।

Easily expandable: यह आसानी से विस्तार योग्य है क्योंकि इसमें आसानी से नए कंप्यूटर को हब  फ्री पोर्ट्स से जोड़ा जा सकता है।

Cost effective: स्टार टोपोलॉजी नेटवर्क लागत प्रभावी हैं क्योंकि यह सस्ती coaxial cable का उपयोग करता है।

High data speeds: यह लगभग 100Mbps की बैंडविड्थ को सपोर्ट करता है। ईथरनेट 100BaseT सबसे लोकप्रिय स्टार टोपोलॉजी नेटवर्क में से एक है।

Disadvantages of star topology

  • A Central point of failure: यदि केंद्रीय हब या स्विच ख़राब हो जाता है, तो सभी जुड़े नोड्स एक दूसरे के साथ कम्युनिकेशन करने में सक्षम नहीं होंगे।
  • इंस्टालेशन की लागत अधिक है।

What is Ring Topology in Hindi-रिंग टोपोलॉजी किसे कहते है?

एक रिंग नेटवर्क एक नेटवर्क टोपोलॉजी है जिसमें प्रत्येक नोड (कंप्यूटर) दो अन्य नोड्स (कंप्यूटर) से कनेक्ट होता है। यह रिंग टोपोलॉजी इस लिए कही जाती है क्योकि यह एक रिंग बनाता है क्योंकि प्रत्येक कंप्यूटर दूसरे कंप्यूटर से जुड़ा होता है।

रिंग टोपोलॉजी में एक टोकन नेटवर्क में चारों ओर घूमता है और इसे कंप्यूटर से कंप्यूटर तक तब तक ट्रांसमिट किया जाता है जब तक यह डेस्टिनेशन तक नहीं पहुंच जाता।

बड़ी संख्या में नोड्स के साथ रिंग टोपोलॉजी के लिए कई रिपीटर्स का उपयोग किया जाता है, क्योंकि यदि कोई व्यक्ति 100 नोड्स के साथ रिंग टॉपोलॉजी में अंतिम नोड में कुछ डेटा भेजना चाहता है, तो 100 नंबर तक पहुंचने के लिए डेटा को 99 नोड्स से गुजरना होगा नोड। इसलिए डेटा हानि को रोकने के लिए नेटवर्क में रिपीटर्स का उपयोग किया जाता है।

Advantages of Ring topology:

  • Network Management: किसी भी Faulty devices को बिना नेटवर्क को डाउन किये ही उसे रिमूव किया जा सकता है।
  • Product availability: नेटवर्क संचालन और निगरानी के लिए कई हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर उपकरण उपलब्ध हैं।
  • Cost: इस टोपोलॉजी में इस्तेमाल होने वाली Twisted pair आसानी से उपलब्ध है और इसकी  installation कीमत भी काफी सस्ती है।
  • Reliable: यह एक अधिक विश्वसनीय नेटवर्क है क्योंकि संचार प्रणाली एकल होस्ट कंप्यूटर पर निर्भर नहीं है।

Disadvantages of Ring topology:

  • Difficult troubleshooting: रिंग टोपोलॉजी में किस प्रॉब्लम को Determine करने के लिए विशेष प्रकार के टूल्स की आवश्यकता  होती है। इसमें यदि प्रॉब्लम किसी केबल में होती है तो पूरा नेटवर्क बाधित होता है।
  • Failure: एक डिवाइस के ख़राब होने से पूरा नेटवर्क डाउन हो जाता है।
  • Reconfiguration difficult: नेटवर्क में नए उपकरणों को जोड़ने से नेटवर्क धीमा हो जाएगा।

Star और Ring Topology में क्या अंतर है?

अभी तक ऊपर हमने जाना की Star और Ring Topology किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Star और Ring Topology के बीच क्या अंतर है इसके बारे में पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भीStar और Ring Topology  क्या होता है और इसमें क्या अंतर है में कोई Confusion है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

S.NO STAR TOPOLOGY RING TOPOLOGY
1. Star topology में नेटवर्क की सारी डिवाइस किसी Centralized डिवाइस से कनेक्ट होती है जैसे की हब। रिंग टोपोलॉजी में, प्रत्येक नोड अपने बाएँ और दाएँ पक्ष के नोड्स से जुड़ा होता है।
2. स्टार टोपोलॉजी में, केवल हब Failure Point है। रिंग टोपोलॉजी में, प्रत्येक नोड्स failure point हैं।
3. स्टार टोपोलॉजी की लागत अधिक है। रिंग टोपोलॉजी की लागत कम है।
4. स्टार टोपोलॉजी में, इनफार्मेशन केंद्रीय हब या राउटर से सभी नोड्स तक ट्रांसमिट की जाती है। रिंग टोपोलॉजी में, नोड्स से नोड्स तक की यात्रा एक दिशा में रिंग तरीके से होती है।
5. रिंग टोपोलॉजी की तुलना में स्टार टोपोलॉजी में अधिक  वायर लगाती है। रिंग टोपोलॉजी में कम स्टार टोपोलॉजी की तुलना में काम वायर लगती है।
6. किसी नयी डिवाइस नोड जोड़ने के लिए केंद्रीय हब में एक नया केबल जोड़ा जाता है। जबकि रिंग टोपोलॉजी में एक नया नोड जोड़ने के लिए, कनेक्शन को तोड़ना होगा।
7. स्टार टोपोलॉजी में नए नोड्स को जोड़ना और हटाना कुछ ज्यादा कठिन नहीं है। रिंग टोपोलॉजी में, नए नोड्स को जोड़ना और हटाना मुश्किल है।

Conclusion

आज के इस पोस्ट में हमने जाना Difference Between Star and Ring Topology in Hindi की Star और Ring Topology के बीच में क्या अंतर होता हैं इसके साथ ही हमने Star और Ring Topology किसे कहते है इसको भी अच्छे से समझा।

Related Differences:

Difference Between Client-Server and Peer-to-Peer Network in Hindi

Difference Between Hub and Switch in Hindi

Difference Between Physical and Logical Topology in Hindi

Difference Between Bridge and Switch in Hindi

Difference Between Star and Mesh Topology in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here